अखिलेश यादव ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को ​दी अब इस नए नाम की संज्ञा

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। लोकसभा चुनाव के कारण राजनेताओं का राजनीतिक स्तर इतना गिर गया है कि वो सभ्य देश और सभ्य समाज की सारी मर्यादाओं को जैसे भूल ही गए है वो देश को अपने कार्यों के द्वारा नयी दिशा देने की जगह वो अपनी जुबान से ऐसे शब्दों का प्रयोग कर रहे है जिससे लोगों में अविश्वास बढ़ रहा है, लोगों का माना है कि नेता और प्रधानमंत्री इस तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग करेंगे तो भारत को किस प्रकार का भविष्य दे पायगे जब बड़े नेता ही ऐसा व्यव्हार जनता के बीच करेंगे तो छोटे और सामान्य नेताओं की हिम्मत बढ़ेगी ही और अभी हालहि में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ‘ठोकीदार’ की संज्ञा दी है. अखिलेश यादव ने एक चुनावी रैली में कहा कि देश के चौकीदार के साथ साथ लोगों को यहां के ठोकीदार को भी हटाना चाहिए.

गोरखपुर में महागठबंधन प्रत्याशी रामभुआल निषाद के पक्ष में चुनावी सभा करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, “यूपी में ठोको नीति चलाने वाले भी हैं, बताओ यहां पर शिक्षा मित्र ठुके थे या नहीं…कोई नहीं बचा है जो न ठुका हो. बताओ ठोका गया कि नहीं ठोका गया. इसलिए हम कहना चाहते हैं कि सिर्फ चौकीदार ही नहीं ठोकीदार को भी हटाना है.”

रैली के दौरान अखिलेश के मंच पर सीएम योगी आदित्यनाथ के हमशक्ल सुरेश ठाकुर उर्फ योद्धा भी मौजूद थे. चुनाव प्रचार के दौरान अखिलेश यादव केंद्र से नरेंद्र मोदी सरकार को हटाने का आह्वान कई बार कर चुके हैं. अब उन्होंने यूपी सरकार को भी हटाने की मांग अपनी दीर्घकालीन नीति की ओर इशारा कर दिया है.

दरसअल अखिलेश यादव राज्य सरकार की कथित ठोको नीति पर पहले भी हमला कर चुके हैं. अखिलेश यादव ने इसी साल जनवरी में कहा था कि राज्य की पुलिस ठोको नीति पर चल रही है. अखिलेश ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ हर जगह अपनी ठोको (एनकाउंटर) नीति की पैरवी करते हैं. अखिलेश ने कहा कि इसकी वजह आम जनता में खौफ है.

गौरतलब है कि सीएम योगी आदित्यनाथ भी कई बार कह चुके हैं कि अगर कहीं अपराधी दिखे तो उसे ठोक दो. यूपी पुलिस ने हाल के सालों में कई अपराधियों का एनकाउंटर करने का दावा किया है, राज्य सरकार का कहना है कि सरकार की इस नीति से अपराध पर लगाम लगा है. उत्तर प्रदेश पुलिस की इस पॉलिसी पर विवाद भी हुआ है. मानवाधिकार संगठनों और गैर सरकारी संगठनों ने पुलिस पर गैरकानूनी तरीके से कथित अपराधियों का एनकाउंटर करने का आरोप लगाया है. बरहाल गोरखपुर में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में यानी की 19 मई को मतदान है. यहां से बीजेपी की ओर से भोजपुरी एक्टर रवि किशन चुनाव लड़ रहे हैं

Tag In

#akhileshyadav #loksabhaelection2019 #samajwadiparty #SP #YogiAdityanath

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *