अनुच्छेद 370 को हटाना जवानों का सम्मान : अमित शाह

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। अमित शाह लगातार अनुच्छेद 370 के हटाने पर संबोधन कर रहे हैं और हर बार वह और भी ज्यादा आक्रामक नजर आते हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुजरात के अहमदाबाद में त्वरित सुरक्षा बल के 27वें स्थापना दिवस में हिस्सा लिया। वहां उन्होंने अपने संबोधन में जवानों के सम्मान में कई बातें की। उन्होंने कहा अपनी जान जोखिम में डालकर जो जवान काम करते है या जो जवान शहीद हो जाते हैं उनके लिए हमारी सरकार काम कर रही है।

कश्मीर में कुछ मुद्दे अभी बाकी : राम माधव

अनुच्छेद 370 को हटाने को लेकर उन्होंने कहा की यह इसीलिए हटाई गई है ताकि कश्मीर में हमारे जवानो को शहीद ना होना पड़े। अनुच्छेद 370 को हटाकर हमारी सरकार ने 50 हजार सैनिकों का सम्मान किया है। इस बारे में आज तक किसी सरकार ने नहीं सोचा। दोबारा सत्ता में आने के बाद हमने सबसे पहले 370 हटाया और अब अगर कोई भी कश्मीर को डिस्टर्ब करने की कोशिश करेगा तो उनका सामना करने के लिए हमारे जवान डटे हुए हैं। उन्होंने कहा की देश में अगर कुछ भी होता है तो सबसे पहले आरएएफ याद आती है। हमारे देश के जवानों ने देश का हर हाल में साथ दिया है और लोगों की सेवा की है।

इससे पहले भी अमित शाह कश्मीर मुद्दे को गंभीरता के साथ लोगों के सामने रखते हुए नजर आए हैं। उनका मानना है की देश की राजनीति ने अब तक देश की अधोगति ही की है और हमेशा इतिहास को गलत तरीके से रखा है। अनुच्छेद 370 के हटने के बाद से उन्हें लगता है की यह देश के इतिहास लिखने का समय है, जो आज तक नई पीढ़ी को नहीं बताया गया उसे बताने का वक़्त है। केंद्रीय गृहमंत्री का कहना है की अगर पहले युद्ध के दौरान सीजफायर ना किया होता तो आज पीओके भारत का हिस्सा होता क्योंकि हमारी सेना घुसपैठियों को खदेड़ चुकी थी। पीओके के लिए उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया।

Tag In

#अनुच्छेद370 #अमितशाह #कश्मीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *