अब टीवी अंपायर करेंगे नो बॉल का फैसला!

स्पोर्ट्स,

ले पंगा न्यूज डेस्क, पुष्पेंद्रसिंह भाटी।  उसने फैसला लिया है कि ऐसे विवादों को खत्म करने के लिए नो बॉल का फैसला मैदानी अंपायर की बजाय टीवी अंपायर लेंगे. हालांकि, इसे सीमित ओवर के प्रारूप में अभी ट्रायल के तौर पर लागू किया जाएगा. आईसीसी यह फैसला करेगी कि अगले छह महीनों कौन-कौन सी सीरीज में यह ट्रायल किया जाए।

क्रिकेट में नो बॉल पर होने वाली गलतियां और विवाद रोकने के आईसीसी ने बड़ा फैसला लिया है.आइसीसी जल्द ही पैर की नो बॉल पर टीवी अंपायर को फैसला लेने का अधिकार देगी, लेकिन अभी इसे ट्रायल के तौर पर लागू किया जाएगा। आइसीसी के महाप्रबंधक ज्योफ अलारडिस ने यह जानकारी दी। आइसीसी अगले छह महीने में सीमित ओवरों की कुछ सीरीज में इस नई व्यवस्था का परीक्षण करेगा और यह सफल रहता है तो फिर मैदानी अंपायर से आगे के पैर की नो बॉल देने का अधिकार छिन जाएगा।

जानकारी के अनुसार अलारडिस ने कहा की यह प्रयोग जल्द लागु किया किया जा सकता है। तीसरे अंपायर को आगे का पैर पड़ने के कुछ सेकेंड के बाद छवि मुहैया कराई जाएगी। वह मैदानी अंपायर को बताएगा कि नो बॉल की गई है।” यह प्रणाली इससे पहले 2016 में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज में भी आजमाई गई थी।

बता दें कि कई बार देखा जाता है कि मैदानी अंपायर कई बार नो बॉल को नहीं देख पाते हैं और खिलाड़ियों को आउट दे दिया जाता है। कई बार इसका असर मैच की आखिरी गेंद पर भी पड़ा है, जब गेंद नो होनी चाहिए थी, लेकिन बल्लेबाज को आउट दे दिया जाता है। इसके अलावा जो गेंद फ्री हिट होनी थी, उस पर विकेट मिल जाता है क्योंकि उसके पिछली गेंद अंपायर ने नहीं देखी थी कि वो गेंद नो थी। इसलिए आइसीसी नया नियम लागू करने पर विचार कर रही है।

Tag In

#cricket #no_ball #अंपायर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *