अब हम भारत से नहीं करेंगे बातचीत: इमरान खान

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल ही में मीडिया को इंटरव्यू दिया। इंटरव्यू में इमरान खान ने बताया की उन्हें लगता है की अब भारत से बात करने का कोई फायदा नही है। उन्होंने कहा की वह भारत से बात करने की हर कोशिश कर चुके हैं परन्तु अब उन्हें लगता है की उनकी हर कोशिश को भारत ने तुष्टिकरण की तरह ही लिया है। इसलिए अब बात करने का कोई फायदा नहीं है। उन्होने कहा की वह अब भारत से बातचीत नहीं करेंगे। क्योंकि उन्होंने कई बार प्रधानमंत्री से बातचीत करने की कोशिश की परन्तु उन्होंने इसमें अपनी कोई रूचि नहीं दिखाई।

यह बात सही है की, पठानकोट हमले के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कई बार बातचीत की कोशिश कर चुके हैं। परन्तु वह हमेशा ही भारत के खिलाफ बयानबाजी भी करते रहे हैं। भारत के कश्मीर जैसे अंदरूनी मामले को तक वह यूएनओ तक ले गए और भारत के अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप करने की कोशिश कर चुके हैं। आज तक पाकिस्तान कई ऐसी हरकते कर चुका है जिससे की भारत अब उसकी किसी भी बात पर विश्वास नहीं कर सकता है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भारत से बातचीत करने की बात करते हैं पर वह खुद भी भारत पर विश्वास नहीं रखते। जहाँ विश्वास ही नहीं होगा वहां बातचीत करने का क्या औचित्य निकलेगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को जहाँ यह लगता हैं की, भारत कश्मीर में फर्जी ऑपरेशन चला सकता है। जिससे भारत पाकिस्तान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई कर सके, तो वह बातचीत करके क्या साधना चाहता है।

पाकिस्तान के पीएम ने चिंता जताते हुए कहा की,मेरी चिंता यही है की कश्मीर के हालात से तनाव बढ़ सकता है। दोनों देश परमाणु सम्पन्न हैं। इसलिए दुनिया को इस पर ध्यान देना चाहिए की हम किस हालात से गुजर रहे हैं। गौरतलब है की पाकिस्तान चिंता का कितना ही मुखौटा लगाले लेकिन यह साफ़ प्रतीत होता है की चिंता के पीछे धमकाने की बू है। कश्मीर हमारा अंदरूनी मामला है। भारत द्वारा जो एक्शन लिया गया है उसका पाकिस्तान से कोई लेना देना नहीं है फिर भी पाकिस्तान को परमाणु बम याद आ रहा है।

भारत ने जब भी पाकिस्तान के साथ बातचीत करने कि कोशिश की है तब भारत के साथ बुरा ही हुआ है। पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ कुछ ठोस और विश्वसनीय कदम उठाने चाहिए। भारत को पाकिस्तान से इतनी ही अपेक्षा है।

अमेरिका में भारत के राजदूत ने इमरान खान के आरोपों का जवाब कुछ इस तरह दिया है, उन्होने बताया की अब कश्मीर के हालात सामान्य की और बढ़ रहे हैं। वहां पर स्कूल बैंक,हॉस्पिटल खुल गए हैं। नागरिकों की सुरक्षा के चलते सिर्फ दूरसंचार पर कुछ पाबंदियाँ है और कोई समस्या कश्मीर में नहीं है। हालातों को देखते हुए पाबंदियों मे भी ढील दी गई है।
इमरान खान ने प्रधानमंत्री मोदी को हिंदुत्ववादी और फासीवादी बताते हुए कहा की वह कश्मीर को हिन्दुत्व बहुल प्रदेश बनाना चाहते हैं।

Tag In

#imran_khan #India #pak #pak_pm_imran_khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *