अभिनंदन की वीरता बच्चों के कोर्स में होगी शामिल, राजस्थान सरकार का फैसला

एयर स्ट्राइक,


ले पंगा न्यूज़ डेस्क, तीर्थराज । पाकिस्तानी विमानों द्वारा भारत में हमले की योजना को फेल कर मुंह तोड़ जवाब देकर उनका एफ 16 विमान को मार गिराने वाले भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की वीरता को अब राजस्थान के विद्यार्थी स्कूलों में अपने कोर्स में पढ़ पाएंगे। राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया है कि वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की कहानी स्कूली किताबों में शामिल की जाएगी। जहां विंग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी की कहानी की बात हर किसी की जुबान पर है तो वहीं अब उनकी वीरता को राजस्थान सरकार स्कूली किताबों के कोर्स में शामिल करने का फैसला लिया है। बता दें कि, विंग कमांडर अभिनंदन की शिक्षा राजस्थान के जोधपुर में हुई है जहां उनके पिता वायुसेना में ही सेवारत थे।

सोशल मीडिया पर शिक्षा मंत्री ने जानकारी साझा की
राजस्थान सरकार जल्द ही विद्यार्थी के लिए उनके कोर्स में भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्यगाथा शामिल करने जा रही है, जिसके बाद विद्यार्थी स्कूल में अभिनंदन की वीरता और साहस को पढ़ेंगे। यह जानकारी राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने सोशल मीडिया पर साझा की। उन्होंने फेसबुक और ट्विटर पर पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब देने वाले भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की प्रंसशा करते हुए स्कूल के कोर्स में शामिल करने की बात कही है। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा है ‘जोधपुर से पढ़े, हाल ही में पाकिस्तान की सरजमीं से अपने साहस एवं वीरता का परिचय देते हुए वापस लौटने वाले विंग कमांडर अभिनंदन के शौर्य के सम्मान स्वरूप सरकार ने अभिनंदन की शौर्य की कहानी को राजस्थान के स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने का फैसला लिया है। हालांकि राजस्थान सरकार द्वारा यह बदलाव कब किए जाएंगे और किस कक्षा की किताबों में अभिनंदन की कहानी शामिल की जाएगी, अभी तक इसकी जानकारी नहीं दी गई है।
जल्द ही पाठ्यक्रम समिति द्वारा किया जाएगा फैसला
गौरतलब है कि इससे पहले भी राजस्थान सरकार के शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने पुलवामा में आतंकी हमले की कहानी को भी विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम में शामिल करने की बात कही थी। तब भी शिक्षा मंत्री डोटासरा ने बच्चों को शहीदों के शौर्य के बारे में जानकारी देने के लिए शहीदों की गौरव गाथाएं पाठ्यक्रम में शामिल करने की जानकारी साझा की थी। वहीं इस बारे में शिक्षा विभाग की पाठ्यक्रम समिति द्वारा फैसला लिए जाने की बात भी कही गई थी, जिसमें शहीदों की गौरव गाथाएं किस रूप में होंगी, किस तरीके से होंगी और क्या-क्या शामिल किया जाएगा, यह निर्णय लिया जाने वाला है।
गौरतलब है कि पिछले दिनों ही पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले को अंजाम दिया, जिसके जवाब में भारतीय वायुसेना ने पीओके समेत पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी। जिसकी जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान ने अपने विमानों से भारत के कुछ इलाकों में बम गिराकर दशहत फैसाले की नाकाम कोशिश की थी, जिसका मुंह तोड़ जवाब देते हुए भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान विमानों को खदेड़ भगाया था, जिसमें विंग कमांडर अभिनंदन ने पाक के एफ-16 विमान को मार गिराया और अपने दुर्घटनाग्रस्त मिग-21 से कूद गए थे और खुद को बचाने के लिए जब वे पैराशूट से नीचे आए तो वो भारत नहीं बल्कि पाक अधिकृत कश्मीर में आ गए। जहां से पाकिस्तानी सेना द्वारा उन्हें हिरासत में ले लिया गया। हांलाकि विश्वभर के देशों के साथ आने से बने दबाव और जेनेवा क्नवेंशन के कारण आखिरकार करीब 60 घंटे बाद पाकिस्तान द्वारा भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा कर ही दिया गया।
1:00 PM

Govind Singh Dotasra on Twitterजोधपुर से पढ़े, हाल ही में पाकिस्तान की सरजमीं से अपने साहस एवम वीरता का परिचय देते हुए वापस लौटने वाले विंग कमांडर अभिनंदन के शौर्य के सम्मानस्वरूप सरकार ने अभिनंदन की शौर्य की कहानी को राजस्थान के स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने का फैसला लिया है।#AbhinandanDiwas @DIPRRajasthan

Tag In

#Abhinandan Varthaman #raj edu minister govind dotasra #rajsthan govt ashok ghlot rajasthan government

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *