असम में रूठे साथी को मनाने में कामयाब रही बीजेपी

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क। देवेन्द्र कुमार। लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद से राजनीतिक पार्टियों में गठबंधन की कोशिशें जारी हैं। भाजपा महाराष्ट्र, पंजाब और बिहार में अपने नाराज साथियों को मनाने के बाद अब असम में कामयाब रही। असम के साथी के साथ विवादित नागरिकता (संसोधन) विधेयक के मुद्दे पर दो माह पहले बीजेपी का संबंध टूट गया था। अब फिर से बीजेपी व असम गण परिषद का गठबंधन हो गया।

बीजेपी महासचिव माधव ने ट्वीट कर दी जानकारी

बीजेपी महासचिव राम माधव, एजीपी अध्यक्ष अतुल बोरा और अन्य के साथ देर रात तक चली बैठक में गठबंधन को अंतिम रूप दिया गया। बुधवार सुबह बीजेपी के पूर्वोत्तर प्रभारी माधव ने ट्वीट कर बताया कि ‘बैठक के बाद बीजेपी और एजीपी ने आने वाले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को हराने के लिए साथ काम करने का निर्णय लिया है।’

राम माधव ने लिखा कि ‘गुवाहाटी में बीजेपी के नेता हेमंत विश्व शर्मा और एजीपी के अतुल बोरा और केशव महंत की उपस्थिति में यह घोषणा हुई।’ माधव ने बताया कि गठबंधन में तीसरा सहयोगी बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट (बीपीएफ) है। गठबंधन के बाद बोरा ने कहा कि कांग्रेस को हराने के लिए पहले के सहयोगी फिर से साथ आ गए हैं।

एजीपी ने इस कारण वापिस ले लिया था समर्थन

नागरिकता (संशोधन) विधेयक पर कदम उठाने को लेकर असम में एजीपी ने बीजेपी सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था। इस विधेयक में बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के गैर मुस्लिम लोगों को भारत में छह साल तक रहने के बाद नागरिकता देने की बात कही गई है। इसका विरोध करते हुए एजीपी ने सार्वजनिक तौर पर बीजेपी नेतृत्व की आलोचना की थी।

Tag In

# ‘गुवाहाटी #अतुल बोरा #असम गण परिषद #राम माधव #राहुल गांधी #हेमंत विश्व शर्मा बीजेपी ममता लोकसभा चुनाव 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *