BURQA BAN

आईएस का दावा कि उसके तीन आतंकवादी मारे गए, वही श्रीलंका सरकार ने किया बुर्का और नकाब को बैन

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। श्रीलंका में ईस्टर के दिन 21 अप्रैल को हुए आतंकी हमले के बाद इस्लामिक स्टेट ने दावा किया कि श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान उसके तीन आतंकवादी मारे गए हैं, जिन्होंने खुद को बम से उड़ा लिया था। मुठभेड़ शुक्रवार को उस समय हुई, जब सुरक्षा बल ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए धमाकों के लिए जिम्मेदार स्थानीय आतंकवादी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के लड़ाकों की तलाश कर रहे थे। इन धमाकों में 253 लोग मारे गए थे और 500 से अधिक घायल हो गए थे।

‘कोलंबो गजट’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईएस की न्यूज एजेंसी ‘अमाक’ के जरिए आईएसआईएस ने एक बयान में कहा कि अबू हमाद, अबू सूफयान और अबू अल-का’का मारे गए। उसमें कहा गया है कि उन्होंने ऑटोमेटिक हथियारों से गोलाबारी की और ‘गोला-बारूद खत्म होने के बाद, विस्फोटक बेल्ट के जरिए खुद को उड़ा लिया।

कठोर कदम उठाते हुए श्रीलंका ने किया चेहरा ढकने वाले कपड़े बैन

पिछले कुछ दिनों में हालात में थोड़ा सुधार के बाद अधिकारियों ने रात में कर्फ्यू हटाने का फैसला लिया है। कर्फ्यू हटने के बाद श्रीलंका के लोगों की जिंदगी 7 दिन बाद कर्फ्यू की जद से बाहर आई है। इसके साथ ही श्रीलंका की सरकार इस्लामी कट्टरपंथ को खत्म करने के लिए कठोर कानून बना रही है। श्रीलंका सरकार ने कहा है कि देश में गैरकानूनी तरीके से तालीम दे रहे विदेशी मौलवियों को बाहर किया जाएगा।
कठोर कानून बनाते हुए श्रीलंका सरकार ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए वैसे सभी परिधानों, कपड़ों को बैन कर दिया है जिससे चेहरा ढका जाता है। श्रीलंका सरकार के इस फैसले का असर बुर्का और नकाब पहनने वाली महिलाओं पर भी पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक ये फैसला राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने लिया है, उन्होंने ट्विटर के जरिए सरकार के इस फैसले की जानकारी दी है।

श्रीलंका सरकार ने बताया, “चेहरा ढकने वाली ऐसी कोई भी चीज जिससे किसी शख्स के पहचान में दिक्कत होती उसे आपातकालीन प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित किया जाता है, इस बावत राष्ट्रपति द्वारा फैसला लिया गया है।” श्रीलंका सरकार का ये फैसला 29 अप्रैल यानी की आज से लागू हो गया है। श्रीलंका के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, “ऐसे किसी फेस मास्क के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जाता है जिससे कि किसी शख्स के पहचान में बाधा पैदा होती हो, ऐसे व्यक्ति राष्ट्रीय और पब्लिक सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं, ये आदेश तुरंत प्रभाव से 29 अप्रैल से लागू होगा।

Tag In

#ban #bhuqa #is #isis #MaithripalaS #shilanka gov #shilanka news shilanka

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *