आखिरकार विजयादशमी को राफेल हुआ हमारा, पहले राफेल को दिया गया ये नाम!

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। भारत के लिए कल का दिन बहुत ऐतिहासिक रहा। क्योंकि विजयादशमी और 87वें भारतीय वायुसेना के दिवस पर भारत को पहला शक्तिशाली और लड़ाकू विमान राफेल मिल गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह स्वयं पहला खतरनाक फाइटर प्लेन राफेल लेने के लिए सोमवार को फ्रांस गए।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को विजयादशमी के मौके पर फ्रांस में शस्त्र पूजा करने के साथ ही राफेल विमान को प्राप्त किय। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय विधि विधान से राफेल की पूजा करी। पूजा के दौरान राफेल पर नारियल चढ़ाया, ओम का निशान भी बनाया। पूजा के बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल में उड़ान भी भरी। बता दें कि राजनाथ सिंह ने इससे पहले उन्होंने स्वदेसी लड़ाकू विमान तेजस उड़ाया था।

हालांकि, बता दें कि भारतीय वायुसेना के बेड़े में फाइटर प्लेन राफेल को शामिल होने में फिलहाल अभी लंबा वक्त लगेगा, अभी फिलहाल आधिकारिक हैंडओवर हुआ। क्योंकि अभी तो भारतीय वायुसेना के जवानों की ट्रेनिंग शुरू होगी। साथ ही 36 में से 4 राफेल विमान लगभग मई 2020 तक भारत की धरती पर आएंगे और करीब 2022 तक ही भारतीय वायुसेना के बेड़े में सभी 36 विमान शामिल हो पाएंगे। इसी के साथ बता दें कि भारतीय वायुसेना के प्रमुख राकेश कुमार भदौरिया ने पहले राफेल का नामकरण भी कर दिया है। पहले फाइटर प्लेन का नाम ‘आरबी-001’ रखा गया है।

Tag In

#DefenceMinisterRajnathSingh #dussehra #France #Rafalejet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *