ami_american_congress

आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं, तो पाकिस्तान होगा दुनिया से अलग

एयर स्ट्राइक,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। कांग्रेस के प्रभावशाली भारतीय-अमेरिकी सदस्य एमी बेरा ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि पाकिस्तान अपने देश में मौजूद आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता है, तो वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग ही बना रहेगा। जिसका स्वयं जिम्मेदार होगा।

आतंकवाद पर चीन को भी होगा आगे आना

कैलिफोर्निया से चार बार भारतीय अमेरिकी कांग्रेसी सदस्य रह चुके हैं। एमी बेरा हाउस फॉरेन अफेयर्स सबकमेटी ऑन ओवरसाइट एंड इन्वेस्टिगेशन के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने चीन से भी अपील में कहा है कि वह पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के खिलाफ वीटो न करके सकारात्मक भूमिका निभाए। उन्होंने आगे कहा है कि चीन भारत-पाक के संबंधों पर हमेशा सकारात्मक भूमिका निभाई है। बेरा ने एक संपादकीय में लिखा- ‘यदि प्रधानमंत्री इमरान खान आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करते हैं, तो अमेरिकी कांग्रेस उसका साथ देने के लिए खड़ी है। इससे उनके देश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी।

अभिनंदन को सौंपकर पाक ने उठाया है सही कदम

‘टाइम फॉर पाकिस्तान टू चार्ट ए न्यू कोर्स’ शीर्षक में लिखे गए संपादकीय में बेरा ने कहा था कि पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को भारत को सौंपकर पहल की है। इससे दोनों देशों के बीच खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका तनाव कम हुआ, लेकिन आगे भी और सही कदम उठाने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री इमरान खान को इस मौके पूरा प्रयोग करके दुनिया के साथ अपने देश के संबंधों को सुधारने और पाकिस्तान के लिए एक नया रास्ता तैयार करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

बेरा ने कहा कि इसकी शुरुआत जैश और लश्कर ए तोइबा जैसे अन्य आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने से होती है, जो साल 2008 में मुंबई में हुए हमले का जिम्मेदार है। मगर, दुर्भाग्य से इन आतंकी संगठनों के प्रति पाकिस्तान का व्यवहार उल्टा और खुद को हराने वाला रहा है। पाकिस्तान ने इनमें के कई आतंकी संगठनों को बंद किया है। इसमें पांच मार्च को बैन किए गए दो अतंकी संगठन भी शामिल हैं। मगर, इस दौरान वह अपनी सीमा में उनकी गतिविधियों को भी बर्दाश्त करता है। पाकिस्तान को जल्द से जल्द आंतकी संगठनों को रोकने का प्रयास करना चाहिए। जिससे आंतकवाद को खत्म किया जा सके।

पाकिस्तान में आतंकियों को छुपने की नौबत नहीं

दुनिया के नक्शे पर पाकिस्तान के वो तमाम आंतक की फैक्ट्री के नजर आते है। जहां आतंकवादियों के ट्रेनिंग कैंप हैं। पाकिस्तान में आंतकवादी खुल्लमखुल्ला घूमते नजर आते हैं। हाफिज सईद, मौलाना मसूद अजहर जैसे आतंकवादियों को तो पाकिस्तान में कभी छुपने की भी नौबत सामने नहीं आती है।

Tag In

#Ami Bera #Jaish e Mohammed chief Masood Azhar #pakistan #terrorist groups #UN Security Council resolution china india indian army pak pakisthan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *