इस परीक्षा में अब पूछा गया विवादित सवाल, चौंक जाओंगे जानकर

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। यूपीएससी की परीक्षा में एक ऐसा सवाल पूछा गया जो एक विवाद का विषय बन गया। परीक्षा में पूछा गया की धर्मनिरपेक्षता के नाम पर हमारे सांस्कृतिक दस्तूर के सामने क्या चुनौतियाँ हैं? इस सवाल में पूछा गया था की धर्मनिरपेक्षता के नाम पर देश के सामने की चुनौतियों के बारे में था। छात्रों ने इसका उत्तर 150 शब्दों में देना था। एक रिपोर्ट के अनुसार परीक्षा में शामिल छात्रों ने उसके जवाब कुछ इस तरह दिए, एक विद्यार्थी ने जवाब दिया की धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान के आदर्श के रूप में देखी जाती है, इसे सकारात्मक रूप में देखा जाना चाहिए। वहीं एक दूसरे विद्यार्थी का कहना था की ऐसे सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए।

जनरल पेपर स्टडीज 1 के पेपर में यह सवाल पूछा गया था। कोचिंग सेंटर संचालक ने कहा की यूपीएससी को इस तरह के सवाल पूछने की स्वतंत्रता है। आइएएस पद से इस्तीफा देने वाले कन्नन गोपीनाथन ने भी इस मामले में कहा की भारतीय धर्मनिरपेक्षता एक सकारात्मक अवधारणा है, जो सभी सांस्कृतिक दस्तूरों को साथ लेकर चलती है और उसे बढ़ावा देती है। यह अंधविश्वास और नुकसान पंहुचाने वाली प्रथाओं के खिलाफ वैज्ञानिक मनासिकता को बढ़ावा देती है।

इससे पहले भी हिंदी के निबंध के पेपर में आए विषय ‘पूर्वाग्रही मिडिया भारतीय लोकतंत्र के लिए एक बड़ा खतरा’ भी विवाद का विषय बन गया था। परीक्षाओं में पूछे जाने वाले सवाल छात्र की विषय की समझ और ज्ञान देखने के लिए पूछे जाते हैं। इसलिए विषय कितना भी टेढ़ा हो या गलत लग रहा हो छात्रों को उसका जवाब अपनी समझ से देना होता है।यूपीएससी कोई भी और किसी भी तरह का सवाल कर सकती है।

Tag In

#question #UPSC #upscexam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *