udiraj

उदित राज का टिकट कटा, प्रेस कांफ्रेंस कर बोले उदित कि दलितों का समर्थन करने की सजा मिली है

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज। देवेन्द्र कुमार। भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट से मौजूदा सांसद उदित राज का टिकट काट दिया। बीजेपी ने उनका टिकट काटकर सिंगर हंस राज हंस को दिया है। टिकट कटने पर सांसद उदित राज बीजेपी पर जमकर बरसे। इस पर उन्होंने दलित कार्ड खेला। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर पत्रकारों के सामने कहा कि क्या मुझे दलितों का समर्थन करने की सजा मिली। उन्होंने कहा कि मैंने अभी तक इस्तीफा नहीं दिया है। निर्दलीय चुनाव लड़ने के बारे में भी अभी कोई फैसला नहीं किया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उदित राज ने कहा कि मैं समझ नहीं पा रहा कि मेरे साथ ऐसा क्यों किया गया है। उन्होंने कहा कि टिकट कटने के पीछे मुझे कुछ कारण समझ आ रहे हैं। उदित ने कहा 2 अप्रैल 2018 को जब भारत बंद दलितों ने किया, उसका मैंने समर्थन किया, क्या उसकी सजा मिल रही है? 3 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट सीलिंग के खिलाफ रामलीला मैदान में जो हुआ, उसका मैंने समर्थन किया। क्या वो मेरी गलती थी?

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने सवालिया लहजे में बातें की। उन्होंने कहा कि क्या सबरीमाला मामले में एससी के फैसले के समर्थन की सजा मिली है? क्या मुझे बेस्ट परफॉर्मेंस की सजा मिली है। पार्टी मुझे इशारा कर देती कि मुझे टिकट नहीं मिलने वाला है। मुझे इसके लायक भी नहीं समझा गया। मुझे इसी बात का दुख है।

उदित बोले मैंने इस्तीफा नहीं दिया है, निर्दलीय लड़ने का विचार अभी नहीं

उदित ने कहा कि मैंने अभी तक पार्टी को इस्तीफा नहीं दिया है। इस्तीफा देने से पहले मैं देश भर के कुछ संगठनों से बात करूंगा। उदित राज ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुझे 4 महीने पहले ही बता दिया था कि इस बार मेरा टिकट काटा जाएगा।

उन्होंने कहा कि बिना टिकट के मैं लोगों की सेवा कैसे कर सकता हूं। इसके लिए मुझे ताकत चाहिए। उदित राज ने साफ शब्दों में कहा कि निर्दलीय लड़ने का मेरा अभी कोई विचार नहीं है। उदित बोले की अब ज्यादा समय नहीं रह गया है इस थोड़े से समय में मैं इतने लाखों लोगों तक नया चुनाव चिन्ह कैसे पहुंचाऊं?

इससे पहले दिल्ली की उत्तर पश्चिमी सीट से टिकट कटते ही उदित राज ‘चौकीदार’ से डॉक्टर बन गए। दोपहर में उत्तर पश्चिमी सीट से सूफी सिंगर हंस राज हंस के नाम का ऐलान होते ही उदित राज ने अपने ट्विटर हैंडल में नाम के आगे से चौकीदार हटा लिया। लेकिन शाम को करीब पांच बजे के आसपास उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट में नाम के आगे फिर से चौकीदार लगा लिया।

इस बात की पिछले कई दिनों से चर्चा थी कि उदित राज को टिकट नहीं दिया जाएगा। उदित को इस बात का डर भी था इसलिए उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्विट कर कहा था कि मुझे टिकट नहीं मिला तो मैं पार्टी को इस्तीफा दे दूंगा। बता दें कि भाजपा ने दिल्ली की 7 में से 6 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का एलान कर दिया था, लेकिन उत्तर पश्चिमी दिल्ली से उदित राज की सीट पर पत्ते नहीं खोले। बीजेपी ने नामांकन की समय सीमा खत्म होने से कुछ घंटे पहले हंस राज हंस को इस सीट से मैदान में उतारा है।

Tag In

#bjp 2019 #lok sabha chunav 2019 #Loksabha Elections 2019 #loksabha-saabha-chunav #loksabhachunav2019 #uditraj PM Modi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *