scr

राजस्थान में लोकसभा चुनाव के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा जल्द – कांग्रेस की तैयारी पूरी

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क। देवेन्द्र कुमार- राजस्थान में लोकसभा के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा जल्द हो सकती हैं। हालांकि चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा के चुनावों की तिथि की घोषणा अभी नहीं की गई है, लेकिन राजनीतिक पार्टियों ने चुनावों में अपने उम्मीदवारों को उतारने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसी बीच कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों के नामों की सूची बारह मार्च के बाद कभी भी आ सकती है। पार्टी ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

8 मार्च को दिल्ली में हो सकती है स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक

कांग्रेस पार्टी के सुत्रों के अनुसार राजस्थान के उम्मीदवारों के चयन के लिए बनाई गई स्क्रीनिंग कमेटी की अंतिम बैठक आठ मार्च को दिल्ली के कांग्रेस वार रूम में होगी। कांग्रेस वार रूम में होने वाली इस बैठक की अध्यक्षता स्वयं पार्टी के अध्यक्ष राहूल गांधी करेंगे। राष्ट्रीय संगठन मंत्री के सी वेणुगोपाल, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलेट, प्रभारी महासचिव अविनाश पाण्डे व सीटवार प्रभारी सचिव बैठक में रहकर लोकसभा सीटवार एक पैनल को अंतिम रुप देने का काम करेंगे। सूत्रों के अनुसार इस पैनल की दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में चर्चा होगी उसके बाद बारह मार्च को सीडब्ल्यूसी की बैठक में अहम चर्चा होगी। उसके बाद उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जाएगी।

भाजपा की तैयारी लगभग पूरी

भाजपा के सूत्रों के अनुसार राजस्थान लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामों पर काम लगभग पूरा हो चुका है। सूत्रों के अनुसार सर्वे व पार्टी नेताओं की रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा लगभग एक दर्जन सासंदों की छुट्टी करके नए चेहरों को मौका दिया जाएगा। नए चेहरों का चुनाव जातीय समीकरणों व कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों को ध्यान में रखकर किया जाएगा, ताकि चुनाव में भाजपा की जीत सुनिश्चित हो सके। उम्मीदवारों ने नामों की घोषणा के लिए 10 मार्च को दिल्ली में भाजपा की बैठक हो सकती है। इस बैठक में एक या दो पैनल तैयार किए जाएंगे। सूत्रों के अनुसार गंगानगर, झूंझुनू, सीकर, दौसा, बाडमेर, जयुपर व टोंक, सवाईमाधोपुर सहित करीब बारह सांसदों की जगह नए चेहरों को मैदान में उतारा जाएगा।

एक नजर इस पर भी

पिछले लोकसभा चुनाव 2014 में भाजपा ने प्रदेश के सभी पच्चीस सीटों पर जीत हासिल करके कांग्रेस का सफाया कर दिया था। लेकिन इसके बाद अजमेर से सांसद सांवरमल जाट व अलवर से सांसद बाबा चांदनाथ का देहांत होने के कारण हुए उपचुनावों में दोनों सीटों पर कांग्रेस को जीट मिली थी। जिसमें अजमेर सीट पर कांग्रेस के रघू शर्मा व अलवर से डॉ. करण सिंह सांसद यादव बने थे। इसके अलावा दौसा से भाजपा सासंद हरिश मीणा ने पार्टी से बगावत करके कांग्रेस के टिकट पर देवली विधानसभा से चुनाव जीत कर सांसद पद से त्याग पत्र दे दिया। वहीं बाडमेर से भाजपा सांसद कर्नल सोनाराम के सांसद रहते हुए बाडमेर से विधानसभा सीट का चुनाव हारना उनकी खराब छवि को दर्शाता है।

Tag In

#अविनाश पाण्डे #अशोक गहलोत #के सी वेणुगोपाल #चांदनाथ #डॉ. करण सिंह #रघू शर्मा #सचिन पायलेट #सांवरमल जाट #सांसद कर्नल सोनाराम #सासंद हरिश मीणा #स्क्रीनिंग-कमेटी कांग्रेस बीजेपी सीडब्ल्यूसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *