indian air focre

एफ-16 लड़ाकू विमान को लेकर अमेरिका कर रही है जांच

एयर स्ट्राइक,

ले पंगा न्यूज डेस्क। पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ एफ-16 लड़ाकू विमानों का प्रयोग करके बुरी तरह फंसता जा रहा है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि पाकिस्तान की ओर से एफ-16 लड़ाकू विमान के गलत इस्तेमाल संबंधी रिपोर्टों पर अमेरिका और जानकारियां जुटाने में लगी हुई है। पाकिस्तान ने भारत के साथ सीमा संघर्ष में अमेरिका के साथ हुए ‘एंड-यूजर’ समझौते का उल्लंघन किये जाने संबंधी खबरों के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘हम इन रिपोर्टों से अवगत हैं और जानकारियां जुटा रहे हैं’।  रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल कोन फॉकनर ने बताया है कि ‘विदेशी सैन्य बिक्री अनुबंधों में अप्रकटीकरण समझौते के कारण हम उसमें दर्ज एंड यूजर समझौतों के बारे में चर्चा नहीं कर सकते’,  अमेरिका आधुनिक रक्षा साजो सामान बेचने वाला विश्व का सबसे बड़ा देश है और इसके पास मजबूत एंड यूजर निगरानी समझौता है, जो रक्षा साजो सामान के दुरुपयोग के किसी भी आरोप को बेहद गंभीरता से लेता है।

पेंटागन की डिफेंस सिक्योरिटी एंड कॉरपोरेशन एजेंसी (डीएससीए) के अनुसार एफ-16 विमान आतंकवाद निरोधक अभियानों में पाकिस्तान की क्षमता को बढ़ाने के लिए हैं, सार्वजनिक रूप से उपलब्ध दस्तावेजों के अनुसार अमेरिका ने पाकिस्तान पर एफ-16 विमानों के प्रयोग को लेकर लगभग 12 पाबंदियां लगाईं हैं।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने गुरुवार को एएमआरएएएम के कुछ टुकड़े यह साबित करने के लिए उन साक्ष्यों के तौर पर दिखाए थे कि पाकिस्तान ने अमेरिका निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों पर हवाई हमले के लिए किया था। जबकि पाकिस्तान ने बुधवार को दावा किया था कि किसी एफ-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल नहीं किया गया और उसने साथ ही इस बात से भी इनकार किया था कि भारतीय वायुसेना ने उसके एक विमान को मार गिराया है।

Tag In

#indian air force air force amerika and-use army bharat f-16 indian army

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *