एयरलाइन जेट एयरवेज में सब सब कुछ ठीक ठाक नहीं

न्यूज़ गैलरी,

देश की जानीमानी एयरलाइन जेट एयरवेज में सब कुछ ठीक ठाक नहीं है उम्मीद है की आने वाले दिनों में कर्ज में डूबी हुई एयरलाइन जेट एयरवेज और कंपनी के कर्मचारियों के अच्‍छे दिन आ सकते हैं.पैसों की कमी की वजह से जेट एयरवेज अपने केवल एक तिहाई बेड़े का उपयोग कर पा रही है. एयरलाइन कर्ज की किश्तें नहीं चुका पा रही है और पायलटों का वेतन भी समय पर नहीं मिल रहा है. जेट एयरवेज पर कर्ज की बात करें तो 8,200 करोड़ रुपये का है और उसे मार्च अंत तक 1,700 करोड़ रुपये भुगतान करने हैं. अगर एयरलाइन धाराशायी होती है, 23,000 नौकरियां खतरे में होंगी. जेट एयरवेज का नियंत्रण फिलहाल नरेश गोयल के पास है जिनके पास 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है. वहीं अबुधाबी स्थित एतिहाद एयरवेज के पास 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है. मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि एतिहाद से एसबीआई से संपर्क कर एयरलाइन में अपनी 24 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने का प्रस्ताव दिया है. जेट एयरवेज को संकट से उबारने के लिए देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया की अगुवाई में बैंकों का एक समूह प्रयास कर रहा है. इसी के तहत एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला और प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेन्द्र मिश्र के साथ बीते बुधवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की.

क्‍या थी मुलाकात की वजह

एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार के मुताबिक यह मुलाकात जेट एयरवेज एयरलाइन की स्थति के बारे में सरकार को जानकारी देने के लिए थी. इसके साथ ही रजनीश कुमार ने यह स्पष्ट किया कि यह बैठक प्रोत्साहन पैकेज पर चर्चा के लिए नहीं थी. हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि जेट एयरवेज को परिचालन में बनाये रखना कर्जदाताओं तथा उपभोक्ताओं के हित में हैं. जेट एयरवेज को बैंकरप्‍सी कानून (आईबीसी) के अंतर्गत ले जाना अंतिम विकल्प है.

जेट एयरवेज के पायलटों को मिली नौकरी

इस बीच एक अन्‍य एयरलाइन इंडिगो ने सैलरी संकट से जूझ रहे जेट एयरवेज के 100 पायलट को नौकरी दी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंडिगो ने 100 से अधिक बोइंग 737 कमांडर स्‍तर के पायलटों को हायर किया है. जेट एयरेवज के पायलटों ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनका वेतन 31 मार्च तक नहीं दिया गया, वे उड़ानों का परिचालन बंद कर देंगे.

Tag In

# जेट एयरवेज #एतिहाद #एयरलाइन जेट एयरवेज #एसबीआई #नरेन्द्रमोदी #पीएम मोदी #बैंकरप्सीी कानून #रजनीश कुमार #स्टेट बैंक आफ इंडिया कांग्रेस बिहार बीजेपी लोकसभा चुनाव 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *