sbi

एसबीआई और आईओबी ने घटाई ब्‍याज दरें, होम और ऑटो लोन सस्‍ता

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। केंद्रीय बैंक की ओर से नीतिगत ब्याज दरों में चौथाई फीसदी की कटौती किए जाने के बाद देश के सबसे बड़े के बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक (एसबीआई) और इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी)  ने लोन सस्‍ता करने का निर्णय किया है।  इससे ग्राहकों के होम लोन और कार लोन की ईएमआई का बोझ कम हो जाएगा। सूत्रों के मुताबिक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई)  ने लोन की ब्याज दरों में 0.05 फीसदी की मामूली कटौती की है, तो इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी)  ने भी कर्ज की ब्याज दरों में 0.05 फीसदी की कटौती की है। दोनों बैंकों की घटी ब्‍याज दरें दस अप्रैल से लागू हो जाएंगी। इसके अलावा एसबीआई ने एक मई से बचत खातों की जमा दरों को रेपो रेट से लिंक करने की घोषणा की है।

होम लोन पर घटेगी ब्याज दर

एसबीआई ने संशोधित दर के अनुसार 30 लाख रुपये तक के होम लोन पर भी ब्याज दर में 0.10 फीसदी की कटौती की है। इसके साथ अब 30 लाख रुपये से कम के होम लोन पर नई ब्याज दर 8.60 से 8.90 फीसदी होगी जो अभी तक 8.70 से 9 फीसदी है। भारतीय रिजर्व बैंक ने हाल में अपनी चालू वित्त वर्ष की पहली मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर को चौथाई फीसदी घटाकर छह फीसदी किया था। एसबीआई तीसरा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है जिसने अपना लोन सस्ता किया है।

पहले बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने भी की कटौती

गौरतलब है कि एसबीआई से पहले इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने भी एक साल और उससे अधिक की अवधि के कर्ज पर ब्याज दर में 0.05 फीसदी की कटौती की है। इंडियन ओवरसीज बैंक ने एक साल के ऋण पर एमसीएलआर को 8.70 प्रतिशत से घटाकर 8.65 प्रतिशत करने की घोषणा की है। वहीं, बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने पांच अप्रैल को ही विभिन्न परिपक्वता अवधि के कर्ज पर ब्याज दरों में 0.05 प्रतिशत की कटौती की थी।

आरबीआई एक वित्त वर्ष में छह बार करता है मौद्रिक नीति की समीक्षा

रिजर्व बैंक एक वित्त वर्ष में छह बार अप्रैल, जून, अगस्त, अक्टूबर, दिसंबर और फरवरी में अपनी मौद्रिक नीति की समीक्षा करता है। हालांकि अप्रैल की समीक्षा का सबको इंतजार रहता है, क्योंकि इससे ही पूरे वित्त वर्ष का एक तरह का रुख तय हो जाता है।

Tag In

sbi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *