कमल हासन के विवादित बयान के बाद इस नेता ने कहा काट देनी चाहिए जीभ

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन।  सात चरणों में आयोजित हो रहे लोकसभा चुनाव का अंतिम चरण 19 मई को होने वाला है। लोकसभा चुनाव का भले ही अब अंतिम चरण हो। लेकिन फिर भी नेताओं के बीच जुबानी जंग कम ही नहीं हो रही है।

खैर, अब अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन के एक विवाद बयान के बाद बवाल खड़ा होता नजर आ रहा है। मक्कल नीधि मैयम (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन के हिंदू को पहला अतिवादी बताए जाने पर उनकी कड़ी आलोचना हो रही है। कमल हासन के इस विवादित बयान के कारण उनकी चारों ओर आलोचना हो रही है।

हासन के इस विवादित बयान के बाद तमिलनाडु सरकार के दुग्ध एवं डेयरी विकास राज्यमंत्री और अन्नाद्रमुक के दिग्गज नेता के टी राजेंद्र बालाजी ने इस बयान पर खासी नाराजगी जताई है। राज्यमंत्री ने तो यहां तक कह दिया कि इस तरह के बयानबाजी के लिए उनकी जीभ काट देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों का वोट पाने के लिए हासन ने ऐसा बयान दिया है।

साथ ही राज्यमंत्री ने तो चुनाव आयोग से भी इस विवादित मामले पर कार्यवाही का अनुरोध किया हैं और कहा हैं कि कमल हासन की पार्टी एमएनएम पर पाबंदी लगाने का भी अनुरोध किया है।

साउथ के सुपरस्टार कमल हासन के इस बयान की बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने भी सोशल मीडिया के जरिए कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि कला और आतंकवाद दोनों का कोई धर्म नहीं है। इस दौरान विवेक ओबेरॉय ने पूछा कि क्या मुस्लिम वोट हासिल करने के लिए नाथूराम गोडसे के धर्म का जिक्र किया गया।

बता दें कि एमएनएम पार्टी के संस्थापक ने कमल हासन ने तमिलनाडु के अरावकुरिचि में कहा कि आजाद भारत का पहला आतंकी एक हिंदू था। हासन ने उस आतंकी का नाम नाथूराम गोडसे बताया था। हासन ने कहा कि यहीं से ही आतंक की शुरूआत हुई थी। नाथूराम गोडसे वहीं है जिसने भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गोली मारी थी।

Tag In

#controversialstatement #election #kamalhaasan #LokSabhaElections2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *