काशी के प्राचीन वैभव को पुनः जीवित करता मंडुआडीह स्टेशन

लोकसभा 2019,

“किसी एयरपोर्ट की तरह चमकता वाराणसी का मंडुआडीह रेलवे स्टेशन आज यात्रियों को सुविधा के साथ साथ 5 सालों में हुई देश की तरक्की का एहसास करा रहा है। रेलवे स्टेशनों का यह रूप और सुविधाएं आने वाले समय मे देश भर में मिलेंगी। नामुमकिन अब मुमकिन है।”

लेकिन देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मंडुआडीह स्टेशन का निर्माण 18 से 99 से 1983 के बीच हुआ समय का कालचक्र घुमा आजादी के बाद उत्तर प्रदेश में एक नहीं कई प्रधानमंत्री दिए तो वाराणसी से पंडित कमलापति त्रिपाठी जैसे दिग्गज कांग्रेसी रेल मंत्री पर किसी के जेहन में विराट मंडुआडीह स्टेशन के कार्यकाल की बात तक नहीं आई ज्यादा नहीं 10 वर्ष पहले रात में 8:00 बजे मडवाडी जाने आने के रास्तों पर सन्नाटा रहता था समाज के वाशिंदे इसके आसपास भी जाने से कतराते थे पर नरेंद्र मोदी ने वाराणसी के उपेक्षित रेलवे स्टेशन को आकर्षित बना दिया

बल्कि हिंदुस्तान में वह जगह दिलाई जिसके लिए महानगरों मैं भी संघर्ष जारी है रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो भी शेयर किया यह वीडियो वाराणसी के मंडुआडीह स्टेशन का है स्टेशन दिखाया जा रहा है वाराणसी के स्टेशन का वीडियो शूट करते हुए लिखा कि वाराणसी का मंडुआडीह स्टेशन विस्तृत सुविधाओं से युक्त से यात्रियों को एक नया अनुभव प्रदान करेगा .

देश के सबसे सुंदर रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण का काम तो कांग्रेसी राज में ही शुरू हो गया था पर उत्तर प्रदेश में समाजवादियों बहुजन समाजवादी की पार्टी आती रही जाती रही और निर्माण कार्य बाधित होता रहा

मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलने का भी प्रस्ताव है केंद्र में राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलने का प्रस्ताव किया था

फिलहाल जो भी हो मोदी ने जो कहा कम से कम वाराणसी में तो कर दिखाया वाराणसी के लोगों को वह सौगात दी जिसकी वह मिसाल देश के किसी भी रेलवे स्टेशन पर जाकर देख सकते हैं कि देखो मंडुआडीह स्टेशन रेलवे स्टेशन ना हो एयरपोर्ट के जैसा दिखाई देता है

Tag In

#DRM-varanashi #manduadih-railway-station #piyush-goel modi narendra-modi Priyanka Gandhi rahul gandhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *