kej

केजरीवाल ने हरियाणा में गठबंधन के लिए कांग्रेस को दिया न्यौता

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क। देवेन्द्र कुमार। दिल्ली में कांग्रेस और आप पार्टी का गठबंधन नहीं हो पाया लेकिन अब आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहूल गांधी को हरियाणा में मोदी को हराने के लिए नुस्खा बताया है। केजरीवाल ने बुधवार को एक ट्वीट के माध्यम से राहूल गांधी को हरियाणा में लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन करने के लिए विचार करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि यदि आप और कांग्रेस हरियाणा में मिलकर लोकसभा चुनाव लड़े तो हम सभी सीटों पर जीतेंगे।

कांग्रेस का गठबंधन मिला तो सभी दस सीट जीतेंगे

केजरीवाल ने कहा है कि ”देश के लोग अमित शाह और मोदी जी की जोड़ी को हराना चाहते हैं। अगर हरियाणा में JJP, AAP और कांग्रेस साथ लड़ते हैं तो हरियाणा की दसों सीटों पर बीजेपी हारेगी। राहुल गांधी जी इस पर विचार करें।” जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) दुष्यंत चौटाला की पार्टी है। 2014 में हुए लोकसभा के चुनाव में हरियाणा में बीजेपी ने सात, कांग्रेस ने एक और आईएनएलडी ने दो सीटों पर जीत दर्ज की थी। आईएनएलडी दो फाड़ हो चुकी है। आईएनएलडी से अलग JJP का गठन किया गया है।

दिल्ली में नहीं हो पाया गठबंधन

दिल्ली में लोकसभा की सात सीटे हैं। दिल्ली के लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस व आप पार्टी की गठबंधन की चर्चा हुई थी। लेकिन दिल्ली में यह गठबंधन नहीं हो पाया। अब दोनों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं। दोनों पार्टियों का कहना है कि हम सातों सीट पर जीत रहे हैं। केजरीवाल कह रहे हैं कि हम सातों सीट जीत रहे हैं। वहीं राहूल गांधी कह रहे हैं हमें दिल्ली में गठबंधन की कोई जरूरत नहीं है हमें सभी सीटों पर जीत मिलेगी।

2014 में बीजेपी के खाते में गई थी सातों सीट

पिछली लोकसभा में 2014 में हुए चुनाव में दिल्ली की सभी सात सीटों पर बीजेपी का कब्जा है। हालिया सर्वे में दावा किया गया है कि इस बार के चुनाव में भी आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के हाथ खाली रहेंगे। यही वजह है कि केजरीवाल जीत के लिए कांग्रेस से गठबंधन करने के लिए आतुर हैं। अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के अन्य नेता कई मौकों पर कांग्रेस को गठबंधन का ऑफर दे चुके हैं। केजरीवाल ने एक सभा में कहा था, ”कांग्रेस-आम आदमी पार्टी (आप) में गठबंधन हो जाए तो BJP सातों सीटें हार जाएगी, जमानत जब्त हो जाएगी।

पिछले दिनों कांग्रेस के इनकार पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस को गठबंधन करने के लिए राजी करने का प्रयास किया, लेकिन वो समझ नहीं पायी। ध्यान रहे कि अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस के खिलाफ आंदोलन कर राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी और आज दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 67 सीटों पर आम आदमी पार्टी का कब्जा है। उन्होंने दावा किया, “कांग्रेस लोकसभा चुनाव में दिल्ली में अपनी जमानत गंवा बैठेगी।” दिल्ली की सभी 7 सीटों और हरियाणा की 10 सीटों पर पर छठे चरण में 12 मई वोट डाले जाएंगे।

Tag In

# JJP #आईएनएलडी #केजरीवाल #राहूल गांधी aap bjp अमित शाह कांग्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *