jk

कैसा है भारत का कश्मीर और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर

लोकसभा 2019,

“कश्मीर के बारे में कहा गया है, “गर फिरदौस बर रूये ज़मी अस्त। हमी अस्तो हमी अस्तो हमी अस्त” मतलब धरती पर अगर कहीं स्वर्ग है, तो यहीं है, यहीं है, यही हैं।“ लेकिन बहुत ही कम लोग जानते है कि भारत और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बहुत अंतर है। आज हम आपकों बताने जा रहे है कि किस तरह से भारत का कश्मीर पाकिस्तान से अलग है।”

ले पंगा न्यूज डेस्क। दुनिया में कश्मीर को लेकर दो बातें मशहूर है, एक तो कश्मीर की खूबसूरती और दूसरा कश्मीर का आतंकवाद। कश्मीर भी दो है एक वह जो भारत का हिस्सा है और दूसरा जो पाकिस्तान के अधिकृत है। कश्मीर पर कब्जे को लेकर पाकिस्तान हमेशा ही भारत को धमकियां देता रहा है। भारत-पाक के बंटवारे के समय कश्मीर का कुछ हिस्सा पाकिस्तान में रह गया था। आज हम आपको भारत और पाकिस्तान केअधिकृत कश्मीर से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे है जिसके बाद अपने भारतीय होने पर आपको गर्व महसूस होगा। हालांकि 69 साल हो गए है धरती पर स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर को भारत में मिले हुए। लेकिन आज हम आपकों भारत के कश्मीर और पाक अधिकृत कश्मीर के बीच के अंतर के बारे में बताने जा रहे है।

कश्मीर का क्षेत्रफल

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का क्षेत्रफल कुल 13,297 वर्ग किमी है, वहीं भारतीय कश्मीर का क्षेत्रफल 101387 वर्ग किमी है।

कश्मीर में जिलों की संख्या

भारतीय कश्मीर में जिलों की संख्या 22 हैं वहीं पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कुल 10 जिले हैं|

कश्मीर की राजधानी

जैसा की सभी जानते है कि मार्च से अक्टूबर तक कश्मीर की राजधानी श्रीनगर और अक्टूबर से मार्च तक जम्मू रहती है। जबकि पाकिस्तान कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद है।

कश्मीर विधानसभा सीटों की संख्या

भारतीय कश्मीर में विधानसभा सीटों की संख्या 87 है, लेकिन पाकिस्तान कश्मीर में विधानसभा सीटें कुल 49 है|

कश्मीर का राज्य बजट

भारत में कश्मीर के लिए हर साल 8,000 करोड़ का बजट स्वीकृत होता है, लेकिन पाकिस्तान इस पर कुल 4500 करोड़ रुपए खर्च करती है|

कश्मीर स्वास्थ्य के क्षेत्र में

भारतीय कश्मीर के लोगों के लिए सरकार प्रतिवर्ष 3037 कर करोड़ रुपए खर्च देती है, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान सरकार कश्मीर के लिए कुल 200 करोड़ रुपए का खर्च उठाती है|

कश्मीर में हवाई अड्डों की संख्या

भारतीय अधिकृत कश्मीर हवाई अड्डों की संख्या 4 है। पाकिस्तानी हवाई अड्डों की संख्या केवल 2 है|

कश्मीर में शिक्षा

गौरतलब है कि पाकिस्तान शिक्षा के क्षेत्र में भारत से काफी पीछे है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कुल 6 विद्यालय और कॉलेजों हैं, जबकि भारत के कश्मीर में 35 शैक्षिक केंद्र बनाए गए हैं|

वैसे तो पाक अधिकृत कश्मीर को ‘आजाद’ कश्मीर कहा जाता है, लेकिन यहां पर आज़ादी सिर्फ एक शब्द के अलावा कुछ नहीं है। वहां आतंकवाद, ISI, अलगाववादी और पाकिस्तान सरकार ने पाक अधिकृत कश्मीर की हालत ख़राब कर रखी है। वहीं दूसरी तरफ भारतीय कश्मीर की हालत भी कुछ खास नहीं है हमारी सरकार का सीधे तौर पर जम्मू कश्मीर पर कोई नियंत्रण नहीं है। जिसके चलते आतंकवादियों और अलगाववादियों ने जम्मू कश्मीर की शांति भंग कर रखी है। कुल मिलाकर कहा जाए तो धरती पर स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर के दोनों तरफ नर्क जैसे हालात है।

Tag In

# News # नरेंद्र मोदी # पीएम मोदी पर मुलायम सिंह यादव का बयान # सोनिया गांधी #अठावले #आजाद-कश्मीर #उधव ठाकरे #कश्मीर #गजेन्द्रसिंह #चिराग #नितीश-कुमार #पाकिस्तान #राज ठाकरे #राजनाथ #शिवसेना बीजेपी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *