गहलोत सरकार ने कर्जमाफी का वादा पूरा नहीं किया…

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। किसानों को लेकर देश में लगातार कई बड़ी-बड़ी बातें होती हैं, लेकिन उन पर अमल कम ही हो पाता है. जी हाँ हालहि में ऐसा ही एक मामला राजस्थान के श्रीगंगानगर से सामने आया है. यहां पर कर्ज से परेशान चल रहे एक किसान ने खुदकुशी कर ली. उसे उम्मीद थी कि राज्य सरकार अपने वादे के मुताबिक कर्ज माफ कर देगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ और बढ़ते हुए दबाव के बोझ में उसने अपनी जान दे दी.

ये मामला रविवार का है. किसान सोहनलाल ने सुसाइड नोट और एक वीडियो में कहा कि कांग्रेस सरकार ने वादा किया था कि सत्ता में आने के बाद सभी किसानों का पूरा कर्ज माफी किया जाएगा, लेकिन गहलोत सरकार ने कर्जमाफी का वादा पूरा नहीं किया. लिहाजा मेरी मौत के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट जिम्मेदार हैं. मेरी मौत बेकार नहीं जानी चाहिए और किसानों के कर्ज माफ होने चाहिए.

अब यह मामला लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला तक पहुंच गया है. गंगानगर के सांसद ने इस मसले को ओम बिड़ला के सामने उठाया. किसान की मौत के मुद्दे पर राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि अभी वह इसकी जांच करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि शायद वह किसान कर्ज में डूबा हुआ नहीं था, लेकिन जो भी हुआ वह दुखद है. सरकार किसानों के उज्जवल भविष्य के लिए कटिबद्ध है, हमने घोषणापत्र में भी किसानों के लिए बात की है.

श्रीगंगानगर जिले के रायसिंहनगर क्षेत्र के ठाकरी गांव में सोहनलाल मेघवाल नामक किसान ने रविवार दोपहर जहर खाकर खुदकुशी की. 45 साल के सोहनलाल पर बैंक की तरफ से कर्ज चुकाने का दबाव बनाया जा रहा था. लेकिन वह इस दबाव को झेल नहीं पाया. जहर खाने से पहले उसने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी डाला और कहा कि आप सभी को मेरा आखिरी राम-राम.

दरअसल जब सोहनलाल को अस्पताल ले जाया गया, तो हालत गंभीर थी और कुछ ही देर में उसने दम तोड़ दिया. किसान की आत्महत्या के बाद परिवार परेशान और गुस्से में हैं. गांववालों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की. आनन-फानन में परिवार का कर्ज माफ करने का वादा करवाया गया और अंतिम संस्कार करवाया गया.

Tag In

#LATESTNEWS #कर्जमाफी #गहलोत सरकार #सचिन पायलट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *