cyclone-fani

चक्रवाती तूफान फानी ने देश में खोला अपना ‘फन’, 205 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रहीं हवाएं, भारी बारिश, अलर्ट जारी

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। चक्रवाती तूफान फानी के कारण ओडिशा में पुरी के समुद्र तटीय प्रदेश में लोगों के दिल दहला ने वाली तेज बारिश हो रही है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ओडिशा के भुवनेश्वर, गजपति, केंद्रपारा और जगतपुर सिंह इलाके में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। तटीय जिलों में रेल, सड़क और हवाई यातायात पूरी तरह से बंद कर दिए गए। वही लोगों को शुक्रवार को घरों में ही रहने का आग्रह किया गया है। बताया जा रहा है कि गोपालपुर समेत ओडिशा के तटीय इलाकों से 11 लाख से ज्यादा लोगों को हटाया जा चुका है। ओडिशा के साथ आस-पास के राज्यों में फानी तूफान के ज्यादा असर की आशंका है। चक्रवाती तूफान फानी की वजह से ओडिशा के करीब 10 हजार गांव और 52 शहर प्रभावित होने का अनुमान है।

https://twitter.com/ANI/status/1124188322912358400

उधर, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड में भी तूफान को लेकर चेतावनी जारी कर दी गई है। तूफान की दहशत ने पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों के लोगों की भी सांसें रोक रखी हैं। चक्रवाती तूफान तेजी से ओडिशा और आंध्र प्रदेश की ओर बढ़ रहा है। ओडिशा के गंजम जिले में चक्रवाती तूफान फानी के कहर से बचाने के लिए तीन लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर भेज दिया गया है। और 541 गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ओडिशा में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का काम तीन दिन पहले से ही जारी है। सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए जा रहे लोगों के रहने के लिए करीब 900 तूफान आश्रय स्थल बनाए गए हैं।

https://twitter.com/ANI/status/1124147907840491520

भारतीय मौसम विभाग के एडिशन डीजी मृत्युंजय महापात्रा ने बताया है कि 8 से 10 बजे के भीतर फानी ने पुरी तट को पार किया था जिसकी हवा की स्पीड 175-185 किलोमीटर प्रति घंटे है। यह रफ्तार 205 kmph तक पहुंच सकती है। वही अत्यधिक प्रचंड चक्रवात फोनी जब तट पर पहुंचेगा तो 200-230 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल सकती है।

https://twitter.com/ANI/status/1124134040070606848

तूफान से बर्बादी और तबाही की आशंका से ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों की चिंता बढ़ रही है, तो ओडिशा सरकार की बेचैनी भी कम नहीं है. सरकार ने परिस्थितियों का सामना करने की हर संभव तैयारी कर रखा है। ओडिशा के तटीय इलाकों से गुजरने वाली ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है, कई गाड़ियों के रास्ते भी बदले गए हैं। यहां तक की भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर विमानों की आवाजाही बंद कर दी गई है। वहीं एनडीआरएफ की टीमों ने हर हालात से निपटने के लिए मोर्चा संभाल रखा है। गंभीर नुकसान की आशंका को देखते हुए आपदा प्रबंधन की टीमें हाई अलर्ट पर हैं। साथ ही प्रभावित इलाकों में सहायता के लिए एक 1938 नम्बर भी जारी किया है।

https://twitter.com/ndmaindia/status/1124171545146994688

Tag In

#lepannga #lepannga news lepannga news exclusive

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *