rahul gandhi and narendra modi

‘चौकीदार चोर है’ वाली अपनी टिप्पणी पर राहुल ने जताया खेद, कहा गर्म चुनावी माहौल में दे दिया बयान

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज। देवेन्द्र कुमार। कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘चौकीदार चोर है’ वाले बयान को लेकर अपने खिलाफ दायर अवमानना याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में खेद जताया। कुछ दिन पूर्व शीर्ष अदालत ने सुनावई करते हुए कहा था कि राफेल डील के लीक दस्तावेजों को सबूत मानकर मामले की दोबारा सुनवाई करेंगे। इस पर कांग्रेस अध्यक्ष गांधी ने कहा था कि कोर्ट ने भी इस बात को मान लिया है कि चौकीदार ने ही चोरी की है। इस पर भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने अवमानना याचिका दायर की थी। सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को इस मामले में सुनवाई करेगा।

सुप्रीम कोर्ट को भेजे जवाब में राहुल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में ‘चौकीदार चोर है’ टिप्पणी नहीं कि थी। यह सब चुनाव प्रचार के दौरान गर्म माहौल में उनके मुंह से निकल गया था। राहुल ने कहा कि उनके बयानों को राजनीतिक विरोधियों ने गलत तरह से पेश किया है। गांधी ने पीएम पर आरोप लागाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री खुद भी राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सरकार के लिए क्लीन चिट बताते हैं।

सुप्रीम कोर्ट में लगी थी राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने बीते वर्ष 14 दिसंबर को अपने फैसले में कहा था कि राफेल डील तय प्रक्रिया के तहत हुई थी। इस फैसले के समय अदालत ने राफेल डील को चुनौती देने वाली तमाम याचिकाओं को खारिज कर दिया था। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने डील के दस्तावेजों के आधार पर इस फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिकाएं दायर की थीं। इऩ लोगों द्वारा याचिका में कुछ गोपनीय दस्तावेजों की फोटो कॉपी भी लगाई गई थीं। गोपनीय दस्तावेजों की फोटो लगाने पर अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने केंद्र की ओर से आपत्ति दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा था कि भारतीय साक्ष्य अधिनियम की धारा 123 के तहत विशेषाधिकार वाले गोपनीय दस्तावेजों की प्रतियों को पुनर्विचार याचिका का आधार नहीं बनाया जा सकता। शीर्ष अदालत ने उनकी यह दलील खारिज कर दी थी।

Tag In

#congress 2019 #congress loksabha #congress_presindent_rahul_gandhi #congresss #loksabhachunav2019 #NARENDRAMODI #PMMODI narendra-modi rahul gandhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *