JEVIK KEKHI

जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीणों को किया प्रोत्साहित

Uncategorized,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। महर्षि मार्केंडेय सुश्रुत सेवा संस्थान की ओर से जयपुर जिले की चौमू तहसील की ढाणी गुगवाना में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए निःशुल्क शिविर का आयोजन किया गया। संचालक नितिश शर्मा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी रासायनिक उर्वरा का प्रयोग बढ़ गया है। जिससे खेती की पैदावार कम होती जा रही है। इसलिए जैविक खेती करने के आसान और सरल तरीके बता गए है। जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति बनी रहे। फसल चक्र, हरी खाद, कम्पोस्ट आदि का प्रयोग के बारें में भी जानकारी दी गई है।

कोषाध्यक्ष सरिता मित्तल ने बताया कि शिविर में कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा रासायनिक खाद से होने वाले दुष्प्रभावो से अवगत भी कराया गया। गोबर से जैविक खाद को बढ़ावा देने के प्रोत्साहित किया गया। इस मौके पर संस्था की ओर से ग्रामीणों को निःशुल्क बाजरे के बीज का वितरण भी किया गया। इस शिविर में ग्रामीणों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

शिविर में आए ग्रामीण ने कही ये बातें

ग्रामीण दौलत राम मीणा ने बताया कि खेतों में अधिक यूरिया खाद का प्रयोग करते है, जिससे पैदावार बढ़ने के बजाय कम होती जा रही है। लेकिन अब जैविक खेती की जानकारी मिली है, तो अब से जैविक खेती ही करेंगे।

ग्रामीण रामधन गुर्जर का कहना है कि पहले के जमाने में गौबर खाद का प्रयोग किया जाता था। जिससे खेतों में अच्छी पैदावर होती थी। लेकिन जब से रासायनिक खाद आए है तब से खेतों में पैदावर ज्यादा होने से बजाय कम हुई है।

Tag In

#chomu #farming #jaipur #lepannga news #lepannga_Breaking news #Organic #Organic farming

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *