जैश के दो आतंकी दबोचने का दावा, UP एटीएस को बड़ी सफलता

एयर स्ट्राइक,

ले पंगा न्यूज़ डेस्क । पुलवामा आतंकी हमले के बाद से ही देश की सुरक्षा एजेंसियां काफी अलर्ट नजर आ रही है। शुक्रवार को यूपी एटीएस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। एटीएस के अनुसार यूपी के सहारनपुर में देवबंद से जम्मू-कश्मीर निवासी जैश-ए-मोहम्मद के 2 आंतकियों को गिरफ्तार किया गया है। ये दोनों आतंकी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के लिए नए आतंकियों की भर्ती प्रक्रिया को संभाले हुए थे। गिरफ्तार आतंकी कश्मीर के ही रहने वाले हैं जिनमें से एक कुलगाम निवासी शाहनवाज अहमद तेली है तो दूसरा पुलवामा का निवासी आकिब अहमद है। चौंकाने वाला खुलासा तो ये है कि ये दोनों बिना एडमिशन के ही देवबंद में रह रहे थे। इन आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद प्रेसवार्ता में यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि इनसे भारी मात्रा में आपत्तिजनक मैटेरियल जब्त किया गया है। इनके अन्य साथियों की तलाश गहनता से की जा रही है।

नए आतंकियों को संगठन में भर्ती का करते थे काम

शुक्रवार को यूपी एन्टी टेररिस्ट स्क्वॉड को ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए बड़ी सफलता पाई है। यूपी एटीएस को पाकिस्तानी आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के दो सदस्य हाथ लगे हैं, जिनको एटीएस ने यूपी के सहारनपुर में दबिश देकर देवबंद से गिरफ्तार किया है। इन गिरफ्तार आतंकियों में एक शाहनवाज अहमद तेली है जो कश्मीर के कुलगाम का निवासी है। ये आतंकी संगठन में नई भर्तियों को अंजाम देने का काम करता था। गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेसवार्ता आयोजित कर बताया कि इन गिरफ्तार आतंकियों से बड़ी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद की गई है और इनके बाकि साथियों की भी गहनता से तलाश की जा रही है। बताते चलें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा सीआरपीएफ जवानों पर जो हमला करवाया गया था उसे अंजाम देने वाला आदिल अहमद डार कश्मीर का ही निवासी था और इस फिदायीन आतंकी हमले में देश ने 40 सीआरपीएफ जवानों को खो दिया था।

बिना एडमिशन के रह रहे थे देवबंद में

उत्तरप्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेसवार्ता कर शुक्रवार को यूपी के सहारनपुर में दबिश देवबंद से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है वे दोनों बिना एडमिशन के ही देवबंद में रह रहे थे। कश्मीरी के निवासी दोनों शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद नाम के इन आंतकियों के पास से 32 बोर की गन और बुलेट बरामद की गई है। इसके अलावा दोनों से एडीएस ने जिहादी ऑडियो, वीडियो और लिखित सामग्री कब्जे में ली है। गिरफ्तारी के बाद इन दोनों संदिग्धों को ट्रॉजिक्ट रिमांड पर लिया गया है। इस बात की जांच की जा रही है कि ये सहारनपुर में कब से रह रहे थे।

आतंकियों का टारगेट पता करने में जुटी एजेंसी

उत्तरप्रदेश एटीएस के हत्थे चढ़ा शाहनवाज लंबे समय से जैश-ए-मोहम्मद नेटवर्क के लिए नई भर्ती करने के कार्य को संभाले हुए था और देवबंद के कई लड़कों को भी शामिल करने के लिए संपर्क में था। इससे बात का भी पता करने में एजेंसी जुटी है कि अब तक इसने कितने लोगों को आतंकी संगठन में शामिल किया है और मुख्य बात ये की इसका टारगेट क्या था। हांलाकि एजेंसी पकड़े गये दोनों आतंकियों के बादे में ज्यादा खुलासा करने से अभी बच रही है। 20 से 25 साल की उम्र के ये दोनों आतंकी देवंबद में बिना प्रवेश के ही डेरा लगाये हुए थे।

इन आतंकियों को दबोचने वाली टीम होगी सम्मानित

यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने पत्रकार वार्ता में बताया कि आतंकी शाहनवाज अहमद तेली का मुख्य कार्य संगठन में नये आतंकी भर्ती करने के साथ उनका शुरूवाती ब्रेनवॉश कराने का भी था। इसके अलावा आतंकी शाहनवाज में ग्रेनेड इस्तेमाल की खास काबिलियत थी। यूपी डीपीपी सिंह ने यह भी बताया कि वे लगातार जम्मू-कश्मीर पुलिस के संपर्क में भी है। डीजीपी सिंह ने जैश के इन आतंकियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को सम्मानित करने की भी बात कही है।

एटीएस की कार्रवाई के बाद देवबंद छात्रों में गुस्सा

पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के इस दोनों आतंकियों के मॉड्यूल को दबोचने के लिए उत्तरप्रदेश एटीएस ने गुरूवार को सहारनपुर के देवबंद में गहन कार्रवाई करते हुए छापेमारी की थी। साथ ही कई घरों के अलावा हॉस्टल्स को भी खंगाला गया था। जिसके बाद दोनों को दबोचने के साथ ही यहां से इनके कब्जे से भारी मात्रा में संदिग्ध सामग्री बरामद करने की कार्रवाई की गई। इस इलाके में यूपी एटीएस की इस छापेमारी को लेकर देवबंद के छात्रों में गुस्सा है। इससे पहले भी यूपी एटीएस ने आईएसआईएस के तर्ज पर तैयार किये जा रहे आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश कर कई आतंकियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

Tag In

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *