तुर्की की सीरिया कार्रवाई पर चीन, पाकिस्तान अलग अलग

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। चीन ने तुर्की को आह्वान किया है की वह सीरिया पर कार्रवाई बंद करे। चीन का मानना है की इससे आईएसआईएस आतंकवादी बचकर निकल सकते हैं और अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी प्रयासों को झटका लग सकता है। सीरिया की संप्रभुता एवं स्वतंत्रता, एकता एवं क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा की जानी चाहिए। चीन ने कहा है की तुर्की ने सीरिया पर कार्रवाई बंद करनी चाहिए और राजनीतिक समाधान निकालने की कोशिश करनी चाहिए।

भूखमरी में पाकिस्तान से भी पीछे है भारत

चीन की चिंता पर तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने भी बयान जारी कर कहा है की वह सुनिश्चित करेंगे कि आईएसआईएस का कोई भी लड़ाका उत्तर-पूर्वी सीरिया से भाग नहीं पाए। उन्होंने सीरिया में कुर्दों के खिलाफ तुर्की के अभियान के चलते बड़े पैमाने पर आतंकियों के भागने की पश्चिमी देशों की आशंका को पाखंड करार दिया। जहां चीन तुर्की के सीरिया कार्रवाई को लेकर तुर्की के खिलाफ है तो वही चीन का दोस्त पाकिस्तान तुर्की के साथ खड़ा नजर आता है। पाकिस्तान पीएमओ से खबर है की उन्होंने तुर्की के राष्ट्रपति को उन्हें अपना समर्थन देने के लिए फ़ोन किया था।

बता दे की इस वक़्त तुर्की और सीरिया के बीच सशस्त्र संघर्ष चल रहा है। अमेरिका ने सीरिया से अपने सैन्य हटाने के तुरंत बाद तुर्की ने सीरिया पर आक्रमन कर दिया था। उसके बाद अमेरिका ने भी तुर्की की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने के लिए तुर्की पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए थे।

Tag In

#pak #चीन #सीरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *