…तो इस कारण अब मारूति सुजुकी इण्डिया ने भी माना सही है वित्तमंत्री

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। मारूति सुजुकी इण्डिया के चेयरमैन आर सी भार्गव ने एक इंटरव्यू के दौरान गाड़ियों की खरीदी में आई मंदी के कारणों पर खुद के विचार रखे जिसमे उन्होंने कहा की भारतीय लोगो की आय औसतन 2200 डॉलर है जो की लगभग 1.56 लाख है वहीं यूरोप में प्रति व्यक्ति आय भारतीयों की आय से लगभग 18 गुना है मतलब 40000 डॉलर। भारतीयों की आय बढ़ भी नहीं रही है। वहीं भारत में बिकने वाली कार और यूरोप में बिकने वाली कार की गुणवत्ता में कोई अंतर नहीं है। टैक्स यहाँ यूरोप से भी ज्यादा है, ऐसे हालात में यह उम्मीद नहीं की जा सकती की यहाँ के लोग कार लेना अफ़्फोर्ड कर सकते हैं।

वही कुछ समय पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऑटो मोबाइल क्षेत्र के कारोबार में आई गिरावट पर बयान दिया था की लोग अब ओला उबर जैसी किराए की गाड़ियां इस्तेमाल पसंद करते हैं जिससे की उन्हें खुदकी गाड़ी लेने की जरुरत नहीं रही। वित्त मंत्री के इस बयान का उस वक़्त मारुती सुजुकी के ही अधिकारी ने खंडन किया था और कहा था का की यह मंदी का सही कारण नहीं है और इसके साथ ही मंदी के ठोस कारण ढूंढने की सलाह दी थी। वही अब मारुती सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आर सी भार्गव ने यह माना है की ओला उबर जैसी कंपनियों के बढे इस्तेमाल से भी कार बिक्री में मंदी आई है। उन्होंने आगे कहा की अब लोग कार पर पैसे खर्च करने से बेहतर अन्य इलेक्टॉनिक वस्तुओं पर पैसे खर्च करना पसंद करने लगे हैं। उन्होने कहा की वित्त मंत्री का बयान सही है।

Tag In

#आरसीभार्गव #मारूतिसुजुकी #वित्तमंत्रीनिर्मलासीतारमण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *