…तो इस कारण देश में मनाया जाता है डॉक्टर्स दिवस

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज़ डेस्क, मोनिका सोनी। दुनिया भर में डॉक्टर्स को भगवान का रूप माना जाता है और डॉक्टर्स की अपने काम के प्रति निष्ठा और लोगों को स्वस्थ रखने की प्रतिज्ञा को ध्यान में रखते हुए भारत में 1जुलाई को डॉक्टर्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। बता दें कि डॉक्टर दिवस डॉक्टर विधान चंद्रा के जन्म और पुण्यतिथि के तौर पर मनाया जाता है। विधान चंद्रा रे, पश्चिम बंगाल के प्रसिद्ध डॉक्टर थे और साथ ही सूबे के दूसरे मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। अपने काम के प्रति निष्ठा और निस्वार्थ स्वभाव के चलते डॉक्टर विधान चंद्रा रे को 4 फरवरी 1961 को भारत रत्न से नवाजा जा चुका है।


भारत सरकार ने 1991 में राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस मनाने की शुरुआत की थी और तब से लेकर अबतक इस दिवस को राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने वाले हर एक डॉक्टरों को समर्पित किया जाता है जो हर परिस्थिति में डॉक्टरी मूल्यों को बचाए रखते हुए अपना फर्ज अदा करते हैं और मरीजों को बेहतर से बेहतर इलाज देने की कोशिश करते हैं। इस साल डॉक्टर दिवस की थीम ‘डॉक्टरों के प्रति हिंसा को लेकर शून्य सहनशीलता’ रखी गई है। यह थीम हाल ही में पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के साथ मारपीट की घटना पर देशभर में आक्रोश को ध्यान में रखते हुए रखी गयी है।

बहरहाल दुनियाभर में डॉक्टर दिवस को मनाने की अलग अलग तारीखें हैं। अमेरिका में डॉक्टर दिवस 30 मार्च को मनाया जाता है। क्यूबा में डॉक्टर दिवस 3 दिसंबर और ईरान में 23 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन दुनियाभर में मुफ्त में चिकित्सा शिविर लगाए जाते हैं और संगोष्ठियां होती हैं।

Tag In

#Doctor #Doctors_Day #first_july #डॉक्टर_दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *