मुलायम सिंह के लिए मुलायम हुई मायावती, मांगेगी वोट

दशकों पुराने गिले-शिकवे भुला कर मुलायम सिंह के लिए मुलायम हुई मायावती, मांगेगी वोट

Uncategorized,

ले पंगा न्यूज। देवेन्द्र कुमार। बहुजन समाजवादी पार्टी की अध्यक्ष मायावती अपने दशकों पुराने गिले-शिकवे भुलाकर अब समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह के लिए वोट मांगेगी। मैनपुरी में शुक्रवार को सपा-बीएसपी-रालोद महागठबंधन की चौथी रैली आयोजित होगी। इस रैली में मायावती मुलायम सिंह को संसद में पहुंचाने के लिए लोगों से अपील करती नजर आऐंगी। मैनपुरी के क्रिश्चियन क्षेत्र में होने वाली इस रैली के माध्यम से मायावती व मुलायम एक साथ मंच साझा कर यह संदेश देने की कोशिश करेंगे की बीजेपी को हराने के लिए सभी दल एकजुट हैं।

सपा-बसपा-रालोद तीनों दलों के नेता करेंगे रैली को संबोधित

समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा ने कहा कि बसपा मुखिया मायावती, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह रैली को सम्बोधित करेंगे। रैली में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव भी शामिल होंगे। रैली की व्यवस्था संभाल रहे मैनपुरी सदर से सपा विधायक राज कुमार उर्फ राजू यादव ने कहा कि मुलायम ने कल रैली में हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है। बता दें कि मुलायम सिंह रैली में शामिल होंगे या नहीं यह चर्चा का विषय बना हुआ था। लोगों का मानना था कि वो रैली में शामिल नहीं होंगे। सपा जिलाध्यक्ष वर्मा ने कहा कि रैली स्थल पर 40 लाख लोगों के आने की संभावना है और इसको ध्यान में रखते हुए तैयारियां की गई हैं। बीएसपी के जिलाध्यक्ष शिवम सिंह ने बताया कि मायावती सैफई के रास्ते से मैनपुरी पहुंचकर रैली में भाग लेंगी।

जानिए क्या था गेस्ट हाउस कांड

गेस्ट हाउस कांड उत्तर प्रदेश की राजनीति का काला दिन माना जाता है। बता दें कि 2 जून 1995 को उत्तर प्रदेश की राजनीति में जो घटना हुई वो शायद ही कहीं हुई होगी। मायावती को यह काला दिन जिंदगी भर याद रहेगा। उल्लेखनीय है कि 1993 में हुए चुनाव में सपा और बसपा के बीच गठबंधन हुआ। गठबंधन की जीत हुई, मुलायम सिंह यादव को प्रदेश के मुखिया की कमान मिली। लेकिन दोनों में आपसी मनमुटाव हो गया और 2 जून 1995 को बसपा ने अपना समर्थन वापिस ले लिया। मायावती के समर्थन वापिस लेते ही मुलायम की सरकार अल्पमत में आ गई। अंत में सपा के नाराज कार्यकर्ता और विधायक लखनऊ के मीराबाई मार्ग पर स्थित स्टेट गेस्ट हाउस जा पहुंचे। और यहां मायावती कमरा नंबर एक में ठहरी हुई थी। इस समय गेस्ट हाउस में कुछ गुंड़ों ने बसपा सुप्रीमो को कमरे में बंद करके मारा और उनके कपड़े फाड़ दिए। इस दौरान बीजेपी के विधायक ब्रम्हदत्त द्विवेदी ने अपनी जान पर खेलकर दरवाजा तोड़कर मायावती को दूर ले जा कर उनकी जान बचाई। बाद में उन्हीं गुंड़ों ने बीजेपी विधायक द्विवेदी को गोली मार कर उनकी हत्या कर दी।

Tag In

# Mulayam singh Yadav #lok sabha chunav 2019 #lok sabha election 2019 #lok sabha elections 2019 #loksabh-2019 #Loksabha Elections 2019 #loksabha-chunav #loksabha-saabha-chunav #loksabhachunav #loksabhachunav2019 loksabha-2019 mayawati

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *