नामांकन रद्द होने के बाद तेज बहादुर ने किया बड़ा खुलासा, चुनाव न लड़ने के लिए भाजपा ने दिया था इतने करोड़ का ऑफर…

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। समाजवादी पार्टी ने बीएसएफ के पूर्व बर्खास्त जवान तेज बहादुर पर एक बड़ा दाव खेला था। पार्टी ने महागठबंधन कर तेज बहादुर को उत्तर प्रदेश की वाराणसी सीट से पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ उतारने की भरपुर कोशिश की थी। लेकिन मालूम हो कि तेज बहादुर का नामांकन बुधवार को रद्द किया जा चुका है।

इसी बीच तेज बहादुर ने गुरूवार को मीडिया के सामने एक बड़ा खुलासा किया है। तेज बहादुर ने बताया कि उन्हें भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं ने लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव न लड़ने के लिए 50 करोड़ रूपए का ऑफर किया था।

तेज बहादुर ने ये भी बताया किया जब मैने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पर्चा दाखिल किया था। तभी से पार्टी के कुछ लोग मुझसे बात करने की कोशिश करने लगे थे। हालांकि तेज बहादुर ने किसी नेता या व्यक्ति के नाम का खुलासा नहीं किया है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि मुझे पहले ही आशंका हो गई ​थी कि भाजपा पर्चा खारिज कराने के लिए कोई ही हथकंड़े अपना सकती है। इसलिए मेरे साथ शालिनी यादव ने भी सपा और बसपा गठबंधन प्रत्याक्षी के रूप में नामांकन दाखिल किया था।

नामांकन पत्र खारिज होने के बाद अब तेज बहादुर मोदी और भाजपा के खिलाफ काफी आक्रामक हो गए है। उन्होंने कहा कि अब में वाराणसी तक ही सीमित नहीं रहूंगा। सपा चाहेगी तो मैं अन्य बड़ी सीटों पर जाकर मोदी और भाजपा के खिलाफ प्रचार करूंगा। बीएसएफ का ये बर्खास्त जवान अब सपा की उम्मीदवार शालिनी यादव के साथ गली गली घूमकर पीएम मोदी के खिलाफ वोट मांगने की तैयारियों में जुटे है। बता दें कि लोकसभा चुनाव के सातवें और अन्तिम चरण यानी कि 19 मई को वाराणसी लोकसभा सीट के लिए मतदान होगा।

Tag In

#lok sabha chunav 2019 bjp bsf jawan election lok-sabha narendra-modi shalini yadav tej bahadur yadav Varanasiseat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *