शत्रुघ्न सिन्हा ने थमा कांग्रेस का हाथ

पटना साहिब से चुनाव लड़ेंगे बोले अगर सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी है:शत्रुघ्न सिन्हा

लोकसभा 2019,

अगर सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं :शत्रुघ्न सिन्हा
ले पंगा न्यूज़ डेस्क। कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जम कर क्लास ली । उन्होंने कहा की नोटबंदी शायद दुनिया का सबसे बड़ा स्कैम है। मैने नोटबंदी के खिलाफ बोला तो हम बागी हो गये?

अगर सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं।बॉलीवुड अभिनेता और बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा ने आज कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और बिहार कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल की उपस्थिति में कांग्रेस में शामिल हो गए। उनके कांग्रेस में शामिल होने पर पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि शत्रुध्न सिन्हा का सच बोलना, सत्ता को हमेशा सच का आईना दिखाने का काम किया है। शत्रुघ्न सिन्हा जी का आध्यात्मिक, बौद्धिक और वैचारिक रूप से गांधी, नेहरू और सरदार पटेल से आत्मा का लगाव रहा है। शत्रुघ्न सिन्हा बिहार में कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में हैं। शत्रुघ्न सिन्हा अपने परंपरागत लोकसभा सीट पटना साहिब से चुनाव लड़ेंगे।मीडिया के लोगों को संबोधित करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, कि बीजेपी कहती है कि 11 करोड़ मेंबर है, कभी कहती है 7 करोड़ मेंबर है। लेकिन ये मेंबर कैसे बने, इस बात का किसी के पास कोई जवाब नहीं है।

नोटबंदी पर हमला बोलते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे कहा , “राहुल गांधी की यह बात शायद सच है कि नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा स्कैम है। हमने देश हित में किसानों, युवाओं और रोजगार की बातें की। अगर हमने नोटबंदी के खिलाफ बोला तो हम बागी हो गये? अगर सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं।” उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी से लोग उबर भी नहीं पाए थे कि आधी-अधूरी जीएसटी लागू कर दी गई।

शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे कहा, “मेरी साफ छवि रही, कभी कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा। इसकी सजा मुझे मिली, ऐसे-ऐसे लोगों को मंत्री बनाया गया जिनका नाम बच्चों को याद तक नहीं रहता। बीजेपी में ‘वन मैन आर्मी टू मैन शो’ चल रहा है। हमारी पार्टी में कहा जाता था कि संवाद होते रहना चाहिए, लेकिन कभी संवाद नहीं किया गया। मैंने और यशवंत सिन्हा ने संवाद करने की कोशिश की, लेकिन हमें कुछ बताने का मौका नहीं दिया गया।”

कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पार्टी में शामिल होने के बाद सभी को धन्यवाद दिया। उन्होंने इशारों-इशारों में पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार आने के बाद परिवर्तन की गुंजाइश लगी। लेकिन परिवर्तन हुआ लेकिन तानाशाही में। बीजेपी ने सबसे पहले वरिष्ठ नेताओं का काटना काम किया गया। मुरली मनोहर जोशी, यशवंत सिन्हा, मुरली मनोहर जोशी, अरुण शौरी आज कहां है सबको पता है। मेरे साथ हुआ वो सब जानते है।

उन्होंने कहा क मैंने लोकशाही को तानाशाही में परिवर्तित होते देखा। वरिष्ठों को मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया, मार्गदर्शक मंडल की आज तक एक बैठक नहीं हुई।

हालांकि शॉटगन को पिछले महीने यानी 28 मार्च को ही कांग्रेस में शामिल होना था। लेकिन कुछ कारणों की वजह से वे उस समय पार्टी में शामिल नहीं हो पाए थे। उस समय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मीटिंग के बाद शत्रु ने नवरात्र के दिन अच्छी खबर मिलने की बात कही थी।

शत्रु बिहार की पटना साहिब सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़कर लगातार 2 बार सांसद रह चुके हैं। बीजेपी द्वारा टिकट काटे जाने से नाराज शत्रु ने कांग्रेस का दामन थामने का ऐलान किया था। बीजेपी ने इस बार शत्रु का टिकट काट कर पटना साहिब से केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद को उम्मीदवार बनाया है।

साल 2009 और 2014 लोकसभा चुनाव में 50 फीसदी से ज्यादा वोट पाकर शत्रुघ्न सिन्हा सांसद बने थे। केंद्रीय मंत्री रहे शत्रुघ्न सिन्हा ने 1984 में अटला बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बीजेपी का दमन थामा था। पिछले कई सालों से बीजेपी और पीएम मोदी के आलोचनाओं के चलते इस बार पीर्टी ने उनका टिकट काट दिया था।

Tag In

#congress 2019 #lokshba 2019 #patna sahib #randeep surjewal #shatrughan sinha congress #UPA NDA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *