pakwar

पाकिस्तान को युद्ध का खौफ़, अलर्ट के साथ जुटा पूर्व तैयारियां में

एयर स्ट्राइक,

ले पंगा न्यूज़ डेस्क, तीर्थराज । पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत-पाक सीमा पर बढ़े तनाव ने पाकिस्तान की नींद उड़ा दी है। आतंकी हमले के बाद भारत की कार्रवाई और सीमा पर सेना की सक्रियता के चलते अब पाकिस्तान को युद्ध का खौफ सता रहा है। पाकिस्तान युद्ध की आशंका से ग्रस्त होकर अब पूर्व तैयारियों में जुट गया है। क्वेटा स्थि हैड क्वाटर्स लॉजिस्टिक एरिया के आर्मी बेस ने जिलानी अस्पताल को एक पत्र लिखकर युद्ध की स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है। आर्मी बेस ने पत्र में लिखा है कि भारत के साथ युद्ध की संभावनाओं को लेकर मेडिकल सपोर्ट की पूरी तैयारियां कर लें।

पाकिस्तान दिख रहा है युद्ध की आशंका से ग्रस्त

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत-पाक सीमा से लेकर सियासी हुक्मरान तक तनाव की स्थिति बन गई है। एक तरफ जहां भारत के मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन पाकिस्तान का करारा झटका देकर उसे विश्व व्यापार संगठन में बेनकाब किया है, साथ ही सिंधु जल संधि को खत्म करने की ओर भी विचार किया जा रहा है। पीएम मोदी द्वारा सेना को फ्री हैंड देने के बाद भारत-पाक सीमा पर भी तनावपूर्ण स्थिति बन चुकी है। दूसरी ओर इन स्थितियों के बीच पाकिस्तान के होश फाख्ता होने के साथ ही नींद हराम हो चुकी है और लगातार जंग के खौफ़ से ग्रसित पाकिस्तान अब युद्ध की पूर्व तैयारियों में जुटने को मजबूर हो गया है। अस्पतालों को भारत की ओर से युद्ध के फैसले लेने की स्थिति को संभालने के लिए मेडिकल सपोर्ट के लिए तैयार रहने के लिए आर्मी बेस द्वारा लेटर लिख कर चेताया जा रहा है।

भारत की कार्रवाई के डर से पीओके में भी अलर्ट

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत की ओर से किसी जवाबी प्रतिक्रिया के डर से पाक अधिकृत कश्मीर में बने आतंकी लॉन्चपैड्स से आतंकियों को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिये जाने की बात सामने आई है। वहीं पीओके सरकार ने लाइन ऑफ कंट्रोल से सटे नीलम, झेलम, रावलकोट, हवेली, कोटली और भीमबेर के अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर अलर्ट रहने का आदेश दिया है और स्थानीय नागरिकों के लिए एक अडवाइजरी जारी करने के आदेश दिये हैं। जिसके तहत अगर उन्हें इंडियन आर्मी की ओर से किसी संभावित हमले की सूचना मिले तो जल्द से जल्द आगाह करें। स्थानीय नागरिकों से यह भी कहे जाने की बात सामने आ रही है कि वे सुरक्षित रास्तों का इस्तेमाल करने के साथ-साथ रात मे वेवजह रोशनी का इस्तेमाल भी करने से बचें।

पाकिस्तानी पीएम इमरान दे चुके गीदड़ भभकी

एक अंग्रेजी अखबार की मानें तो पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत की ओर से जवाबी कार्रवाई से डरे पाकिस्तान को जंग की आशंका लगातार सता रही है और जमीनी स्तर पर पाकिस्तान की ओर से पूर्व तैयारियों को अंजाम देना शुरू किया जा चुका है। हाल ही में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कहा था कि अगर भारत की ओर से जंग की पहल हुई तो उनका देश भी जवाब देगा। क्वेटा के आर्मी बेस द्वारा लिखे पत्र में जिलानी अस्पताल के अब्दुल मलिक को आर्मी बेस के फोर्स कमांडर आसिया नाज की ओर से लिखा गया है, ‘ईस्टर्न फ्रंट पर अचानक जंग छिड़ने के हालात में क्वेटा लॉजिस्टिक एरिया में घायल सैनिकों के पहुंचने की आशंका है। इसके अलावा सभी प्राइवेट अस्पतालों से कहा गया है कि वे इस मकसद के लिए संबंधित सुविधाओं के साथ अपने 25 फीसदी बेड अलग तैयार रखें। खत के आखिर में लिखा है कि इस मुहिम के लिए पूरे पाकिस्तान से गर्मजोशी भरी प्रतिक्रिया मिली है और ऐसी ही उम्मीद बलूचिस्तान से भी की जा रही है।

आर्मी सूत्र भी कह रहे युद्ध की पूर्व तैयारियों की बात

एक रिपोर्ट के मुताबिक क्वेटा के हेडक्वॉटर्स क्वेटा लॉजिस्टिक एरिया के आर्मी बेस ने जिलानी अस्पताल को गत 20 फरवरी को एक पत्र लिखा गया जिसमें साफ तौर पर कहा गया है कि वे भारत के साथ जंग की आशंकाओं के मद्देनजर मेडिकल सपोर्ट की योजना तैयार कर लें। इन्हें सिविल और मिलिट्री अस्पतालों में शुरुआती ट्रीटमेंट दिए जाने के बाद सिविल और मिलिट्री अस्पतालों में बेड दोबारा से उपलब्ध होने तक बलूचिस्तान के सिविल अस्पताल शिफ्ट किया जाएगा।’ साथ ही पाकिस्तानी अफसरों के आधिकारिक दस्तावेज के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तानी जंग की तैयारियों में जुट गया है। इसमें से एक दस्तावेज बलूचिस्तान स्थित पाक आर्मी बेस का है। वहीं, पाक अधिकृत कश्मीर में स्थानीय अधिकारियों की ओर से भेजा गया एक नोटिस भी इस ओर इशारा करता है।

Tag In

#attack attack in india #bikaner #bikaner-DM #imaran_khan #india-pakistan-war #pak-pm #pakistan-war #pm army attack in jammu crpf crpf attack crpf in india indian army jammu& kasmir modi pulwama pulwama attack in india

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *