pak

पाकिस्तान में मचा हड़कंप, भारत की एयर स्ट्राइक के बाद मैराथन बैठकों का दौर शुरू

एयर स्ट्राइक,

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने मंगलवार तड़के 3.50 बजे मिराज-2000 लड़ाकू विमानों से पाक की सीमा में हमला किया। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हमले में पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश का सबसे बड़ा आतंकी कैम्प तबाह कर दिया गया। इसे मसूद अजहर का साला यूसुफ अजहर चलाता था। हमले में कई आतंकी और जैश के सीनियर कमांडर मारे गए। इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है और सरकार की रक्षा एजेंसियों के साथ मैराथन बैठकों का दौर प्रारंभ हो गया। वहीं भारत सरकार की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार शाम सर्वदलीय बैठक बुलाई। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सुबह इस कार्रवाई के बाद अपने निवास पर सुरक्षा कैबिनेट समिति (सीसीएस) की बैठक बुलाई। बुधवार को दिल्ली में विपक्षी पार्टियों की बैठक होगी जिसमें पुलवामा हमले और भारत की जवाबी कार्रवाई पर चर्चा होगी।

जगह और वक्त तय करके देंगे जवाब – पाक

भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद पाक विदेश मंत्रालय ने आपात बैठक बुलाई। हमले के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में भी एक बैठक बुलाई गई। बैठक के बाद पाकिस्तानी राष्ट्रीय सुरक्षा समिति ने कहा कि भारत ने बेवजह भड़काने वाली कार्रवाई की है। अब पाकिस्तान अपने हिसाब से जगह और वक्त तय करके जवाब देगा। बता दें कि, भारतीय वायुसेना ने मसूद के जिस साले यूसुफ को निशाना बनाया वह इंटरपोल की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में था। हमले में मसूद अजहर के भाई तलहा सैफ, कश्मीर में आतंकी कार्रवाइयों में शामिल रहे अम्मार, अजहर खान कश्मीरी और 1999 में आईसी-814 विमान के हाईजैक में शामिल रहे मसूद अजहर के बड़े भाई इब्राहिम अजहर को भी निशाना बनाया गया।

पाक में सक्रिय आतंकियों पर पहली एयर स्ट्राइक

गौरतलब है कि, इससे पहले 1971 की जंग और 1999 की कारगिल की जंग के वक्त भारतीय वायुसेना ने इस तरह की कार्रवाई की थी। दोनों ही मौकों पर भारत की कार्रवाई पाकिस्तान की सेना के खिलाफ थी। किसी आतंकी संगठन के खिलाफ भारत की यह पहली बड़ी एयर स्ट्राइक है। 2016 के उड़ी हमले के बाद भी भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी, लेकिन उसमें वायुसेना की जगह पैराट्रूपर्स को आतंकी कैम्पों को तबाह करने भेजा गया था। हांलाकि भारत की इस एयर स्ट्राइक पर पाकिस्तान की ओर से कोई हताहत नहीं होने का दावा किया गया है। बालाकोट के पुलिस चीफ सगीर हुसैन शाह ने कहा कि हमने इलाके में टीमों को भेजा, जहां पाया कि किसी भी तरह की जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है, क्योंकि जहां बम गिराए गए थे वह खाली मैदान था।

भारतीय विदेश सचिव ने कहा- जैश के कई कमांडर मारे गए

विदेश मंत्रालय के विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में हमला किया था। इसमें हमारे 40 जवान शहीद हुए थे। पिछले दो दशक से जैश पाकिस्तान में सक्रिय है। इसका सरगना मसूद अजहर है जो पाकिस्तान के बहावलपुर में रहता है। भारतीय संसद पर 2001 में और 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हमले में इसी आतंकी संगठन का हाथ रहा है। उन्होंने कहा कि हमें इंटेलिजेंस से इनपुट मिले थे कि जैश-ए-मोहम्मद भारत में कई फिदायीन हमलों को अंजाम देने वाला है। ऐसे में मंगलवार तड़के भारत ने कार्रवाई कर जैश के बालाकोट स्थित सबसे बड़े ट्रेनिंग कैम्प्स पर हमला कर तबाह कर दिया। इसमें जैश के आला कमांडर्स और कई आतंकी मारे गए। मसूद के रिश्तेदार समेत कई आतंकी इसमें मारे गए। बता दें कि, भारत ने 18 साल पहले कारगिल हमले के वक्त भी पाक के खिलाफ ऐसी ही कार्रवाई की थी।

Tag In

#airattack #indianairforce #indianairforceattack #indianairforceattackonpakistan #indianairforceattackpakistan #indianairforceattackpakistantoday #indianairforcelatestnews #indianairforcenews #mirage2000 #mirage2000indianairforce #pakistanairforce #pakistanairforcenews #surgicalstrikemeaning

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *