पीएम मोदी की मलेशिया के प्रधानमंत्री से मुलाकात, भगोड़े जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण की बात

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात की। दोनों के बीच द्विपक्षीय संबंध सुदृढ़ करने के बारे में बात हुई। उन्होंने अपनी मुलाकात में आर्थिक और रक्षा मामले में संबंध बढ़ाने का संकल्प लिया। प्रधानमंत्री 2 दिन की रूस यात्रा पर हैं। रूस के दक्षिण सुदूर की यात्रा करने वाले मोदीजी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं।

प्रधानमंत्री मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की मुलाकात के बारे में विदेश सचिव विजय गोखले ने जानकारी देते हुए बताया की जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे जल्द ही भारत आएँगे। दोनों के बीच कई मसलों पर बात हुई। उन्होंने बताया की , दोनों के बीच 2 +2 लेवल के मंत्रियों की बैठक को लेकर सहमति हुई जिसमे रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री शामिल होंगे। इससे पहले भी प्रधानमंत्री मोदी की शिंजो आबे से जापान के जी 20 शिखर सम्मलेन में और फ्रांस में जी 7 शिखर सम्मेलन में मुलाकात हो चुकी है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने ट्वीट कर कहा की ‘मजबूत द्विपक्षीय संबंध से वैश्विक साझेदारी को और मजबूत किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने शिंजो आबे से व्लदीवोटसॉक में पांचवे इइएफ़ के इतर मुलाकात की। आर्थिक, सुरक्षा, स्टार्ट अप तथा पांच जी क्षेत्रो में बहुआयामी संबंधों को और आगे ले जाने तथा क्षेत्रीय स्थिति पर चर्चा हुई। ‘

प्रधानमंत्री मोदी रूस के दौरे के दौरान शिंजो आबे के अलावा मलेशिया के प्रधानमंत्री मोहतीर मोहम्मद से मिले। मोदी ने मलेशिया के प्रधानमंत्री मोहतीर मोहम्मद से भगोड़े जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण पर भी बात की। ज़ाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर मलेशिया से लगातार बात होती रहती है। मलेशिया का कहना है की जाकिर प्रत्यर्पण का अधिकार उन्हें नहीं है क्योंकि जाकिर नाइक का कहना है की भारत में उसके साथ निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी। बता दे की जाकिर नाइक कट्टर टीवी उपदेशक है। वह 2016 में भारत छोड़कर मलेशिया चला गया था और वह का स्थायी नागरिक बन गया है।

Tag In

#modi #जापान #शिंजोआबे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *