पीएम मोदी की शिकायत चुनाव आयोग पहुंची

लोकसभा 2019,

एंटी सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण के मसले पर सीताराम येचुरी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने सरकार से पीएम मोदी के संबोधन की कॉपी मांगी है।येचुरी ने अपने पत्र में लिखा की इस तरह का मिशन देश को आमतौर पर रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन बताता है, लेकिन इस बार प्रधानमंत्री ने इसको लेकर राष्ट्र के नाम संबोधन किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार हैं. ऐसे में चुनाव आचार सहिंता लागू होने के बाद उनको इसकी इजाजत कैसे दी जा सकती है. येचुरी की इस शिकायत के बाद चुनाव आयोग .

सीताराम येचुरी ने चुनाव आयोग से ये पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश के बारे में चुनाव आयोग को पता था? क्या चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की इजाज़त दी थी? उन्होंने पूछा कि कि पूरा देश जानना चाहता है कि आखिर चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की इजाजत कैसे दी. वह भी तब जब लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है और चुनाव आचार संहिता लागू है.

वहीं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मिशन शक्ति एक राजनीतिक घोषणा है. इसकी घोषणा वैज्ञानिकों को करनी चाहिए थी. इसका श्रेय उन्हें दिया जाना चाहिए. यह केवल एक उपग्रह को नष्ट कर दिया गया, यह आवश्यक नहीं था, यह लंबे समय से वहां पड़ा हुआ था, यह वैज्ञानिकों का विशेषाधिकार है कि यह काम कब करना है. हम चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे.

पीएम मोदी ने एंटी सैटेलाइट मिसाइल परीक्षण ‘मिशन शक्ति’ को लेकर बुधवार को देश को संबोधित किया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि देश ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. भारत ने अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को मार गिराया है, यह बड़ी उपलब्धि है. अमेरिका, चीन और रूस के बाद ऐसा करने वाला भारत चौथा बड़ा देश बना है. .

Tag In

#mamta-benergy #sitaram yechuri #एंटी सैटेलाइट मिसाइल #चुनाव आयोग PM Modi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *