प्रियंका ने ताबड़तोड़ ट्वीट कर योगी सरकार को घेरा, कहा- यूपी में झूठे प्रचार का है शोर, जनता की सुनवाई नहीं

लोकसभा 2019,

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं लखनऊ में कुछ अनुदेशकों से मिली। सीएम योगी ने उनका मानदेय रु 8470 से रु 17,000 की घोषणा की थी। मगर आजतक अनुदेशकों को मात्र 8470 ही मिलता है। सरकार के झूठे प्रचार का शोर है, लेकिन अनुदेशकों की अवाज गुम हो गई।
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 24 घंटे के अंदर एक के बाद एक ट्वीट कर योगी सरकार पर हमला बोल रहा है। प्रियंका गांधी ने यूपी के मुद्दों को उठाते हुए ट्वीट कर सीएम योगी को आड़े हाथो लिया। उन्होंने कहा, ““मैं लखनऊ में कुछ अनुदेशकों से मिली। यूपी के मुख्यमंत्री ने उनका मानदेय रु 8470 से रु 17,000 की घोषणा की थी। मगर आजतक अनुदेशकों को मात्र 8470 ही मिलता है। सरकार के झूठे प्रचार का शोर है, लेकिन अनुदेशकों की अवाज गुम हो गई।”



इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा, “उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों की मेहनत का रोज अपमान होता है, सैकड़ों पीड़ितों नें आत्महत्या कर डाली। जो सड़कों पर उतरे सरकार ने उनपर लाठियां चलाई, रासुका दर्ज किया। बीजेपी के नेता टीशर्टों की मार्केटिंग में व्यस्त हैं, काश वे अपना ध्यान दर्दमंदों की ओर भी डालते।” वहीं रविवार को प्रियंका गांधी ने आशा कर्मियों के साथ एक तस्वीर ट्वीट करते हुए सीएम योगी पर हमला बोला और उन्होंने लिखा लिखा, “उत्तर प्रदेश की आशाकर्मी नौ महीनों के लिए एक गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी उठाती हैं। जिसके लिए उन्हें सिर्फ 600 रुपये मिलते हैं। बीजेपी सरकार ने कभी उनका मानदेय बढ़ाने की सुध नहीं ली। आशा कर्मियों को जुमले नहीं जवाब चाहिए।”
इससे पहले उन्होंने यूपी के एक और मुद्दा उठाते हुए लिखा, “ यूपी की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाएं प्रदेश सरकार से राज्य कर्मचारी का दर्जा मांग रही हैं लेकिन बीजेपी सरकार ने उनकी पीड़ा सुनने के बजाय उन पर लाठियां चलवाईं। उन्होंने आगे लिखा कि मेरी बहनों का संघर्ष, मेरा संघर्ष है।” वहीं प्रियंका गांधी की ओर से यूपी की मुद्दों को लगातार उठाने पर बीजेपी सरकार तिलमिला गई है।

Tag In

# शिक्षामित्रों #कॉग्रेस #बीजेपी उत्तर प्रदेश राहुल गाँधी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *