फिर चौंकी दुनिया लाइव सैटेलाइट को टारगेट करने में सक्षम दुनिया का चौथा देश बना भारत

न्यूज़ गैलरी,

फिर चौंकी दुनिया लाइव सैटेलाइट को टारगेट करने में सक्षम दुनिया का चौथा देश बना भारत
आज से ठीक 21 साल पहले अटल बिहारी बाजपेई की अगुवाई वाली सरकार ने पोखरण में परमाणु विस्पोट कर सारी दुनिया को सकते में डाल दिया था आज वैसा ही पीएम मोदी ने देश के नाम अपने संदेश में कहा कि भारत दुनिया की चौथी अंतरिक्ष महाशक्ति बन गया है, अब तक रूस, अमेरिका और चीन को ये दर्जा प्राप्त था. उन्होंने बताया, ”हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर LEO (Low Earth Orbit) में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया है. ये लाइव सैटेसाइट जो कि एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, उसे एंटी सैटेलाइट मिसाइल (A-SAT) से मार गिराया गया है.” इस ऑपरेशन को ‘मिशन शक्ति’ नाम दिया गया है.

क्या है ‘लो-अर्थ ऑर्बिट’

भारत ने मिसाइल से जिस सेटेलाइट को निशाना बनाया है, वो लो-अर्थ ऑर्बिट में मौजूद थी. लो-अर्थ ऑर्बिट पृथ्वी की निचली कक्षा होती है. यह पृथ्वी से 160 किमी से लेकर 2 हजार किलोमीटर के बीच की ऊंचाई पर मौजूद एक कक्षा होती है. सबसे दिलचस्प बात ये है कि भारत ने ऑर्बिट में घूमती हुई एक सैटेलाइट को मार गिराया है. भारत ने मिसाइल से करीब 300 किलोमीटर दूरी पर मौजूद सैटेलाइट को मारा है.

क्या ए-सैट मिसाइल?

पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि हमने ए-सैट मिसाइल से अंतरिक्ष में मौजूद सैटेलाइट को मार गिराया है. ए-सैट का मतलब होता है एंटी सैटेलाइट मिसाइल. ऐसी मिसाइल हवा में घूमती हुई किसी भी सैटेलाइट को आसानी से निशाना बना सकती है. यह एक तरह का अंतरिक्ष में मार करने वाला हथियार है. अभी तक ऐसी तकनीक सिर्फ अमेरिका, चीन और रूस के पास थी. लेकिन अब भारत भी ए-सैट मिसाइल से लैस देश बन चुका है. ए-सैट मिसाइल युद्ध जैसी स्थिति में दुश्मन की किसी भी सैटेलाइट को तबाह कर सकता है.

यह एक ऐतिहासिक दिन है: रविशंकर प्रसाद

‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”यह एक ऐतिहासिक दिन है. भारत बड़ी अंतरिक्ष शक्ति के तौर पर उभरा है, जिसके लिए सभी वैज्ञानिक सराहना के हकदार हैं.”

अरुण जेटली ने बधाई दी

भारत वर्ल्ड लीडर बनने की तरफ तेजी से बढ़ रहा आगे: नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ”मैं मिशन शक्ति की सफलता के लिए हमारे वैज्ञानिकों को बधाई देता हूं. भारत वर्ल्ड लीडर बनने की तरफ तेजी से आगे बढ़ रहा है.”

यूपीए सरकार ने शुरू किया था A-SAT प्रोग्राम: अहमद पटेल

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा, ”यूपीए सरकार ने A-SAT प्रोग्राम की शुरुआत की थी, जिसका आज सफल परीक्षण हुआ है. मैं अपने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों और डॉ. मनमोहन सिंह की लीडरशिप को बधाई देता हूं.”

प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद शेयर बाजार का चढ़ना शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब आज के संबोधन को लेकर ट्वीट किया था, तब शेयर बाजार में नरमी आई थी. हालांकि पीएम मोदी के संबोधन के बाद शेयर बाजार का चढ़ना शुरू हो गया है.

मिशन शक्ति पर पीएम मोदी ने दी बधाई

मैं मिशन शक्ति से जुड़े सभी अनुसंधानकर्ताओं और अन्य सहयोगियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं. जिन्होंने इस असाधारण सफलता को प्राप्त करने में योगदान दिया है. हमें हमारे वैज्ञानिकों पर गर्व है: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहीं ये बातें

हमने जो नई क्षमता प्राप्त की है ये किसी के खिलाफ नहीं है, ये हिंदुस्तान की रक्षात्मक पहल है
भारत हमेशा से अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ के खिलाफ रहा है, इससे इस नीति में कोई बदलाव नहीं आया है
आज का परीक्षण किसी भी अंतरराष्ट्रीय कानून या संधि समझौते का उल्लंघन नहीं करता है
शांति और सुरक्षा का माहौल बनाने के लिए एक मजबूत भारत का होना आवश्यक है
हमारा मकसद शांति बनाए रखना है ना कि युद्ध का माहौल बनाना
आज का मिशन शक्ति सुरक्षा के लिए आवश्यक था. आज की सफलता को आने वाले समय में सुरक्षित, समृद्ध और शांतिप्रिय भारत के बढ़ते कदम की दिशा में देखना चाहिए
हम आगे बढ़ें और भविष्य की चुनौतियों का सामना करें. हमें आधुनिक तकनीक को अपनाना ही होगा
सभी भारतीय सुरक्षित महसूस करें

भारत ने मिशन शक्ति ऑपरेशन को सफल अंजाम दिया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित कर इस मिशन के बारे में देश को जानकारी दी. पीएम मोदी ने बताया कि हमने ये मिशन सिर्फ 3 मिनट में ही पूरा कर लिया. जिसमें लो-अर्थ ऑर्बिट में एक सेटेलाइट को मार गिराया गया. उन्होने कहा कि आज का मिशन शक्ति सुरक्षा के लिए आवश्यक था. पीएम मोदी ने बताया कि इस मिशन को ‘ए-सैट’ से पूरा किया गया. जानिए क्या है होता है लो-अर्थ ऑर्बिट और ए-सैट मिसाइल.

पीएम मोदी ने कहा, भारत हमेशा से अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ के खिलाफ रहा है इससे इस नीति में कोई बदलाव नहीं आया है. इस क्षेत्र में शांति और सुरक्षा का माहौल बनाने के लिए एक मजबूत भारत का होना आवश्यक है

Tag In

#RAVI SHANKAR PRASHAD #डॉ. मनमोहन सिंह #यूपीए सरकार #रविशंकर प्रसाद #लाइव सैटेलाइट #वैज्ञानिक PM Modi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *