बजरंग अली का नारा देकर एक नई बहस को दिया जन्म

बजरंग बली के नारे ने एक नई बहस को दिया जन्म

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा । सियासी गलियारे में रोज नीत नये कारनामें सामने आ रहे है फ़िलहाल अली और बजरंग बली का बहस का नया मुद्दा बना हुआ है जी हाँ युद्ध में रामपुर से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार आजम खान भी कूद पड़े हैं. उन्होंने बजरंग अली का नारा देकर एक नई बहस को जन्म दे दिया है. आजम खान ने अली और बजरंगबली का मुद्दा उठाते हुए बजरंगबली की जगह ‘बजरंगअली’ का नारा लगवाया. साथ ही उन्होंने पीएम मोदी पर पाकिस्तान का एजेंट होने का आरोप भी लगाया.

इस गुरूवार रामपुर में एक आमसभा को संबोधित करते हुए आजम खान ने कहा कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने बयान दिया है कि अगर पीएम मोदी फिर सत्ता में आते हैं तो दोनों देशों के बीच विवाद सुलझ जाएगा. आजम खान ने कहा कि मोदी-इमरान की ये कैसी मिलीभगत है?

वही सपा उम्मीदवार ने आगे पीएम मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा, “आप कल नवाज शरीफ के दोस्त थे और आज इमरान खान आपके दोबारा प्रधानमंत्री बनने का इंतजार कर रहा है. बताओ लोगों को मोदी जी पाकिस्तान का एजेंट मैं हूं….”. (भीड़ की आवाज आती है-मोदी है-मोदी है).

बरहाल अली और बजरंग मामले पर लोगों से अपील करते हुए कहा, “आपस के रिश्ते को अच्छा करो, अली और बजरंग में झगड़ा मत कराओ, मैं तो एक नाम दिए देता हूं बजरंग अली.”

उल्लेखीनय है कि आगे उन्होंने सीएम योगी को घेरते हुए कहा, “मेरा तो दिल कमजोर नहीं हुआ. योगी जी.  आपने कहा था कि हनुमान जी दलित थे. फिर किसी ने कहा हनुमान जी ठाकुर थे. फिर पता चला कि वे ठाकुर नहीं थे, वे जाट थे. फिर किसी ने कहा कि वे हिंदुस्तान के थे ही नहीं, वे तो श्रीलंका के थे. एक मुसलमान एमएलसी ने कहा कि हनुमान जी मुसलमान थे.  तब जाकर झगड़ा ही खत्म हो गया. अब हम अली और बजरंग एक हैं.”

इसके बाद उन्होंने आगे कहा- “बजरंग अली तोड़ दो दुश्मन की नली, बजरंग अली ले लो जालिमों की बलि.”

दरअसल इससे पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती द्वारा दलितों से चुनाव में वोट करने की अपील और भारतीय जनता पार्टी से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अली-बजरंग बली मामले को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत की जा चुकी है.

गौरतलब है कि आजम खान ने बालाकोट में मारे गए आतंकियों की जन्नत को लेकर  फिक्रमंदी दिखाते हुए पाकिस्तान के पीएम इमरान से सवाल किया, ” इमरान कैसे मुसलमान हैं कि आज तक 350 मुसलमानों का ‘नमाज-ए-जनाजा’ नहीं कराया?” अब आगे देखना यह है कि पीएम मोदी और भाजपा पर इसकी क्या प्रतिकिया आती है…

Tag In

#loksabh-2019 #Loksabha Elections 2019 #loksabha-chunav #loksabha-saabha-chunav #loksabhachunav #loksabhachunav2019 #loksba2019 #बजरंग बली yogi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *