बसपा से मिले धोखे का बदला लेगी सपा: अखिलेश यादव

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद बहुजन समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी का महागठबंधन टूट गया है। महागठबंधन टूटने के बाद बहुजन समाजवादी पार्टी प्रमुख मायावती लगातार समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर हल्ला बोल रही है।

गौरतलब हैं कि बसपा सुप्रीमो के लगातार सपा पर बयानबाजी से समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव खामोश नजर आ रहे है। अखिलेश यादव मायावती के किसी भी बयान का उत्तर देते नजर नहीं आ रहे है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओं को भी किसी भी बयान पर टिप्पणी देने से मना किया है। जिसके चलते सपा नेता बसपा और मायावती के खिलाफ अपनी भड़ास को दबाए रखने पर मजबूर हैं।


वहीं, सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक सपा अंदर से बसपा व मायावती से मिले धोखे का बदला लेने का ब्लू प्रिंट भी तैयार किया जा रहा है। सपा की कोशिश माया के वोट बैंक में सेंधमारी की है, जिसे अखिलेश यादव संपर्क और संवाद के फॉर्मूले से अंजाम देना चाहते हैं।


गौरतलब कि हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में उत्तरप्रदेश में महा गठबंधन का सबसे ज्यादा फायदा बसपा को रहा। बसपा प्रदेश में जीरो से 10 सीटों पर पहुंच गई और उसका वोटबैंक भी पिछले चुनाव की तरह जैसा था वैसा ही रहा। वहीं, अखिलेश यादव गठबंधन में अपनी सियासी जमापूंजी लुटा बैठे। उनके वोट तीन फीसदी तक घट गए।

इसी बीच सपा के प्रवक्ता ने मायावती के आरोपों पर बताते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का चरित्र साफ है वो किसी को धोखा नहीं दे सकते है। अखिलेश यादव ने हाल ही में लोकसभा चुनाव में सपा ने पूरी ईमानदारी से गठबंधन धर्म निभाया है। इसके बावजूद मायावती ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोड़ दिया और उपचुनाव में अकेले लड़ने का ऐलान किया है।

Tag In

#akhilesh_yadav #BSP_chief_Mayawati #loksabh-2019 #loksabha-chunav #Mayawati

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *