ब्रह्मलीन होने के बाद श्री बच्चा महाराज का इटावा बहुरी परमहंस आश्रम में बना समाधि स्थल

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। महायोगेश्वर श्री अनन्त विभूषित स्वामी श्री परमहंस स्वामी अड़गड़ानंद जी महाराज के परम शिष्य श्री सदगुरू देव सदासहाय बच्चा महाराज जी कुछ समय पहले ही ब्रहमलीन हो गये है।

सदासहाय बच्चा महाराज का हृदय गति रूकने के कारण देहांत हो गया था। देहांत के बाद श्री सदासहाय बच्चा महाराज का देहावसान श्री परम हंस आश्रम इटावा कानपुर में हुआ। गौरतलब हैं कि इसके बाद सदासहाय बच्चा महाराज का साधु संत रीति रिवाजों से ईटावा बहुरी परमहंस आश्रम में समाधि दी गई। इस मौके पर बच्चा महाराज के शिष्यों सहित कई साधु संत भी मौजूद थे।

बच्चा महाराज श्री परमहंस स्वामी अड़गड़ानंद जी महाराज के पहले शिष्य के रूप में जाने जाते थे। महाराज जी का आश्रम में आने वाले हर भक्त से लगाव था, उनका व्यवहार इतना अच्छा था कि सब उनके आने का इंतजार करते थे। महाराज बड़े ही व्यवहारशील, प्रकृति प्रेमी और शांत स्वभाव के धनी थे। जिसने भी उनके देवगमन की खबर सूनी उसकी आंखें भीग गई।

वहीं, हमारे चैनल ले पंगा की टीम और परिवार की तरफ से श्री सदगुरू देव सदासहाय बच्चा महाराज को कोटि कोटि नमन अर्पित करते है।

Tag In

#बच्चा महाराज #ब्रह्मलीन #समाधि #स्वामी अड़गड़ानंद जी महाराज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *