प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत माता की ‘जय’ बोलना ही राष्ट्रवाद नहीं, करनी पड़ती है भारत माता की सेवा

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। इन दिनों देश में लोकसभा चुनावों का खूमार छाया हुआ है। नेता अपने बयानों से जनता को लुभाने की कोशिश कर रहे है। ऐसे में लोकसभा चुनाव 2019 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा कि राष्ट्रवाद का अर्थ बहुत बड़ा है और इसे सही तरीके से समझना ज़रूरी है। सिर्फ भारत माता की जय बोलने से काम नहीं चलता, अगर आप सचमुच भारत को मां मानते हैं तो उसकी सेवा करने की ज़रूरत है।

मोदी ने आगे कहा कि राष्ट्रवाद का मतलब है ‘भारत माता की जय’। अगर मैं भारत माता की जय बोलता हूं और मेरी भारत मां गंदी है तो राष्ट्रवाद का क्या मतलब है? अगर मैं भारत माता को स्वच्छ करने का अभियान चलाता हूं, तो क्या ये राष्ट्रवाद नहीं है? अगर गरीब कि पास घर नहीं है और मैं घर देता हूं तो ये राष्ट्रवाद है कि नहीं? मैं भारत माता की जय बोलता हूं लेकिन, बीमारी में अस्पताल जाने तक की गरीब नागरिक की हैसियत नहीं है तो ऐसे में, आयुष्मान भारत योजना के तहत उसे पांच लाख तक की मदद देना राष्ट्रवाद है कि नहीं?

चुनाव में बीजेपी अपने एजेंडों में किसानों व बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर ध्यान न देकर राष्ट्रवाद पर अधिक ध्यान देती है तो उन्होंने कहा कि ‘हमारे देश के किसान आधुनिक खेती करें, अन्न उत्पादन करें, पूरे दाम पाएं, मैं एमएसपी लागू करूं, लागत की डेढ़ गुनी कीमत दूं तो ये राष्ट्रवाद है कि नहीं?’

मोदी ने राष्ट्रवाद पर आगे बात करते हुए कहा कि ‘देश के जवानों को ताकतवर बनाने के लिए आधुनिक हथियार और सामग्री उपलब्ध करवा सकूं तो ये राष्ट्रवाद है कि नहीं? भारत माता की जय का मतलब है कि 130 करोड़ देशवासियों और उनके सपनों की जय, राष्ट्रवाद इन अर्थों में व्यापक है और हमारा राष्ट्रवाद जन-जन के कल्याण के लिए है।

Tag In

#bje news #lok sabha elections 2019 #Loksabha Elections 2019 #modi-rally #modi-sarkar #PMMODI #pmnarendramodi modi PM Modi pm narendra modi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *