ममता का चैलेंज मोदी और शाह मंत्रोच्चार’ में करले मुकाबला

लोकसभा 2019,

अपने धर्म की बात आई तो ममता दीदी ने जम कर बीजेपी की क्लास लगा दी ,बात यही नहीं ख़त्म हुई उन्होंने सीधे पी एम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को चैलेंज दे डाला। कि वे ‘मंत्रोच्चार’ में उनसे प्रतिस्पर्धा करें. ममता ने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य में कई मंदिरों का जीर्णोद्धार कराया जबकि भाजपा आम चुनावों से पहले राम मंदिर के मुद्दे पर सिर्फ राजनीतिक बयानबाजी कर रही है. ममता ने कहा, ‘‘पूजा का मतलब माथे पर तिलक लगा लेना ही नहीं होता. मंत्रों का मतलब भी समझ आना चाहिए. मैं मोदी-शाह को चुनौती देती हूं कि वे मंत्रोच्चार में मुझसे प्रतिस्पर्धा करें”. ममता बनर्जी ने कहा कि, ‘कुछ लोग हैं जो मेरे धर्म पर सवाल उठाते हैं. मैं उनसे कहना चाहती हूं कि इंसानियत मेरा धर्म है और धर्म को लेकर मुझे दूसरों के लेक्चर की जरूरत नहीं है’.

ने कहा कि ‘वे मुझ पर ऊंगली उठाना चाहते हैं और कहते हैं कि मैं बंगाल में पूजा नहीं होने देती. उन्हें जाकर देखना चाहिए कि तृणमूल कांग्रेस के शासनकाल में कितने मंदिरों का निर्माण हुआ है’. भाजपा अक्सर ममता के धर्म पर सवाल उठाती रही है और उन पर अल्पसंख्यक तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप मढ़ती रही है. उन्होंने कहा, ‘‘हम नफरत के धर्म में यकीन नहीं करते। हम इंसानियत में भरोसा करते हैं. चुनावों से पहले वे राम मंदिर पर सिर्फ बयानबाजी कर रहे हैं. हमने तारापीठ, तारकेश्वर और दक्षिणेश्वर (कोलकाता में) मंदिरों का जीर्णोद्धार और पुनर्विकास किया है’.

Tag In

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *