aathwale

महाराष्ट्र में सीटों का बंटवारा, अठावले अठन्नी को तरसे

लोकसभा 2019,

“लोकसभा चुनाव 2019 की आहट से जहां राजनीतिक गलियारियों में हलचल बढ़ गई है। जहां राजनीतिक पार्टियां मतदाताओं को लुभाने के लिए वादों और जातिगत समीकरणों में जुट गई है। वहीं नेताओं ने अपने चुनावी क्षेत्र से टिकट की जावेदारी जतानी शुरू कर दी है।”

ले पंगा न्यूज डेस्क। आम चुवानों के आने से पहले ही राजनीतिक पार्टियों में उठा पठक शुरू हो गई है। जिसके चलते महागठबंधन की कवायद शुरू हो चुकी है। वहीं महाराष्ट्र में सीटों का बंटवारा हो चुका है जिसमें केंद्र की मौजूदा सरकार की आलोचना करने वाले शिवसेना और भाजपा के बीट सीटों को लेकर बंटवारा हो गया है।सोमवार को दोनों दलों ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ने की बात कही।

सीटों का बंटवारा

नए फार्मूले के तहत महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में भाजपा 25 और शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि महाराष्ट्र में भाजपा के अन्य सहयोगी दल रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भाजपा से लोकसभा सीट के लिए दावेदारी पेश की है। इस फॉर्मूले के तहत भाजपा ने शिवसेना के अलावा किसी भी गठबंधन के साथी के लिए कोई भी सीट नहीं छोड़ी है। रामदास अठावले ने भाजपा से दक्षिण मध्य मुंबई सीट की मांग करी है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा अठावले को किसके कोटे से सीट देते हैं या फिर गठबंधन से बाहर रखती हैं। यहां आपको बता दें कि अटवाल ने शुरुआत में महाराष्ट्र के समाज कल्याण और परिवहन मंत्री के रूप में काम किया। इससे पहले वह मुंबई से सांसद और बाद में पंढरपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद बने।

कैसा है सीट शेयरिंग फॉर्मूला

इस नए फॉर्मूले के तहत भाजपा 25 और शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आपको बता दें कि पिछले बार दोनों पार्टियों ने गठबंधन में रहकर लोकसभा चुनाव लड़ा था। उस चुनाव में भाजपा ने 22 सीटों पर जीत दर्ज की थी, वहीं 18 सीटें शिवसेना की झोली में आई थी। इस बार भाजपा 25 और शिवसेना 23 सीटों पर फॉर्मूला बना है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा-शिवसेना ने इस बात को साफ कर दिया कि विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी।

Tag In

#अठावले #उधव ठाकरे #राज ठाकरे #शिवसेना बीजेपी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *