yogi adityanath and mayawa

मायावती का बयान, ड्रामा करके खुद का प्रचार करने में लगे हैं योगी

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। लोकसभा चुनाव में सियासी गलियारे की गर्मी एकाएक बढ़ती हुई नज़र आ रही है, हर तरफ़ राजनीति के इस दंगल में कोई भी नेता विपक्ष की टांग खींचने का एक मौका तक नहीं छोड़ रहा है जी हाँ चुनाव प्रचार के दौरान विवादित बोल पर चुनाव आयोग के दो दिनों का बैन हटते ही बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की मुखिया मायावती ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और चुनाव आयोग पर सीधा हमला बोला है। उन्होंने आज सुबह ट्वीट करके योगी पर निशाना साधा। और इतना ही नहीं, उन्होंने इस चुनावी सग्राम में अब चुनाव आयोग को भी निशाने पर लिया और आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव आयोग बीजेपी पर मेहरबानी क्यों कर रहा है। मायावती ने सवाल उठाया कि चुनाव आयोग भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर इतना मेहरबान क्यों है?

दरअसल चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार के दौरान मायावती के 48 घंटे और योगी आदित्यनाथ के 72 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई थी। इस दौरान योगी लखनऊ से लेकर अयोध्या तक कई मंदिरों में गए। अयोध्या में वह एक दलित के घर पहुंचे और यहां खाना खाया। वह पूरी तरह से निजी दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने कोई चुनाव प्रचार नहीं किया, न ही मीडिया में कोई बात की लेकिन वह मीडिया में खूब चर्चा में रहे। ऐसे में मायावती ने कई सवाल खड़े किए हैं।

इसी दौरान बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने सीधा निशाना योगी आदित्यनाथ पर साधा उन्होंने आरोप लगाया कि ने योगी ड्रामा करके खुद का प्रचार करने में लगे।

 हुए है। वही दूसरी और मायावती ने यूपी सीएम पर हमला बोलते हुए ट्वीट भी किया, ‘चुनाव आयोग की पाबंदी का खुला उल्लंघन करके यूपी के सीएम योगी शहर-शहर व मंदिरों में जाकर और दलित के घर बाहर का खाना खाने आदि का ड्रामा करके तथा उसको मीडिया में प्रचारित, प्रसारित करवाके चुनावी लाभ लेने का गलत प्रयास लगातार कर रहे हैं।’

गौरतलब है कि मायावती ने सिर्फ योगी पर ही नहीं, बल्कि चुनाव आयोग पर भी निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘आयोग उनके प्रति मेहरबान है, क्यों? अगर ऐसा ही भेदभाव व बीजेपी नेताओं के प्रति चुनाव आयोग की अनदेखी व गलत मेहरबानी जारी रहेगी तो फिर इस चुनाव का स्वतंत्र व निष्पक्ष होना असंभव है। इन मामलों में जनता की बेचैनी का समाधान कैसे होगा? बीजेपी नेतृत्व आज भी वैसी ही मनमानी करने पर तुला है, जैसे वह अब तक करता आया है। क्यों?’

बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान मायावती और योगी आदित्यनाथ के कथित रूप से विद्वेष फैलाने वाले भाषणों का सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को संज्ञान लिया था। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से जानना चाहा कि उसने इनके खिलाफ अभी तक क्या कार्रवाई की। इसके बाद चुनाव आयोग ने मायावती के चुनाव प्रचार करने पर 48 घंटे और योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे का बैन लगाया था।

Tag In

#BSP chief Mayawati #loksabh-2019 #Loksabha Elections 2019 #loksabha-chunav #loksabha-saabha-chunav #loksabhachunav #loksabhachunav2019 #mayavti #मायावती bje BSP yogi योगी आदित्यनाथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *