मोदी ने दिया 5आई का फार्मूला, अमेरिका ने 5जी नेटवर्क की सुरक्षा पर जताई चिंता

न्यूज़ गैलरी,राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। जी-20 शिखर सम्मेलन के पहले सत्र में डिजिटल अर्थव्यवस्था चर्चा का विषय रही है। ज्यादातर देशों मे डिजिटल व्यापार के विस्तार, खुले बाज़ार, डेटा के मुक्त प्रवाह का समर्थन किया। जी-20 शिखर सम्मलेन को संबोधित करते हुए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने निष्पक्ष, न्यायपूर्ण और गैर-भेदभावपूर्ण बाजार की स्थापना करने की अपील की है। उन्होंने कहा अधिकांश बड़े देश अपने बाज़ार को खोलना चाहते है।

जापान के पीएम शिंज़ो आबे ने भी डिजिटल व्यापार के विस्तार का पुरज़ोर ढंग से से ध्यान देने की बात कही है। वहीं अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सुरक्षा आशंकाओं के मद्देनज़र डिजिटल नवाचार पर ज़ोर देते हुए कहा कि हमें 5 जी नेटवर्क की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी।  भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नए भारत की संकल्पना में भी डिजिटल अर्थव्यवस्था खास स्थान बताते हुए कहा है कि डिजिटल अर्थव्यवस्था में भारत में एक नई संपदा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सामाजिक लाभ के लिए डिजिटल तकनीक उपयोग को बढ़ावा देने के लिए 5 आई का अनोखा फार्मूला दिया है। जिसमें समावेशिता, स्वदेशीकरण, नवाचार, अवसंरचना में निवेश और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग इन पांच चीजों पर जोर रहा।

पीएम मोदी ने कहा कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम इसका एक उदाहरण है। जो धन का नए रूप लेने पर भारत विकास के लिए डेटा की भूमिका का भी समर्थन करता है। भारत के मुताबिक, डेटा का विश्लेषण- विश्व व्यापार संगठन के संदर्भों में ही की जानी चाहिए। जी 20 के पहले सत्र का थीम था ‘भविष्य का मानव केंद्रित समाज’। सदस्य देशों ने डेटा बाधा रहित डेटा प्रवाह, डिजिटल सुरक्षा, वैश्विक विकास के लिए डिजिटल व्यापार के विस्तार पर ज़ोर दिया।

Tag In

#जी-20 शिखर #डिजिटल अर्थव्यवस्था #पीएम शिंज़ो आबे #प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी #राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *