यहां पर जानिए, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त…

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। हिन्दू पंचांग के अनुसार जन्माष्टमी भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष के अष्टमी तिथि को मनाई जाती है। माना जाता है की श्री कृष्ण का जन्म रात 12 बजे हुआ था। जन्माष्टमी के दिन लोग पूरा दिन व्रत करते हैं और यह व्रत रात को 12 बजे फलाहार खाकर छोड़ ने की परंपरा है। यह हिन्दू धर्म का एक बड़ा उत्सव है। श्रीकृष्ण के जन्म को हर घर में बड़ी धूम से मनाया जाता है।

वहीं, कई लोग इसे श्री कृष्ण के गांव मथुरा जाकर भी मनाते हैं। महाराष्ट्र में श्री कृष्ण जन्माष्टमी सबसे ज्यादा धूम से मनाई जाति है। वहाँ सार्वजनिक तौर पर झाकियाँ निकाली जाती है और दही की हंडिया फोड़ी जाती है। यह मान्यता है की जन्माष्टमी के दिन जगत के पालनहार श्री हरी विष्णु ने धरती पर श्री कृष्ण के रूप में आठवां अवतार लिया था।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर किया गया व्रत एकादशी के व्रत के समान फलदायी होता है। जन्माष्टमी का मुहूर्त 24 अगस्त रात 12:01 बजे से लेकर 12:45 तक का है। आधी रात को कृष्ण की पूजा की जाती है। जन्माष्टमी जन्माष्टमी का व्रत हिन्दू पंचांग के अनुसार अष्टमी के पूरे काल में किया जाता है।

Tag In

#janmashtami_2019 #Krishna_Janmashtami

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *