राजस्थान विवि: महिला प्रोफेसर्स को आने वाले गुमनाम फोन के बाद, अब प्रशासन ने उठाया ये बड़ा कदम

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। राजस्थान के सबसे बड़े विश्वविद्यालय- राजस्थान यूनिवर्सिटी की सभी महिला प्रोफेसर और लेक्चरर इन दिनों एक गुमनाम फोन से बेहद परेशान हैं. जी हाँ करीब 65 महिला टीचरों ने पुलिस में शिकायत दी है कि, कोई अनजान व्यक्ति उन्हें बलात्कार करने की लगातार धमकी दे रहा है, यही नहीं उनका लगातार पीछा भी किया जा रहा है और यहाँ तक कि इस अनजान अपराधी की हिम्मत इतनी ज़्यादा बढ़ गई है कि यह शख्स कई बार उनके बच्चों को भी मारने और दुष्कर्म करने की धमकी दे रहा है. बता दे कि डरी हुई महिला टीचर ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने तक का वक्त मांगा है. वही दूसरी और पुलिस कह रही है कि इस मामले पर तत्परता से जांच की जा रही है.

बरहाल राजस्थान यूनिवर्सिटी की महिला प्रोफेसर काफी डरी-सहमी हुई हैं. कई ने तो यूनिवर्सिटी आना ही बंद कर दिया है. इनका कहना है कि सुबह हो या दिन या आधी रात कभी भी मोबाइल पर फोन आ जाता है और फिर वह अपराधी अश्लील बातें करने लगता है. और मना करने पर दुष्कर्म करने की धमकी तक देता है. सोमवार को तो हद ही हो गई जब कुछ बदमाशों ने कुछ प्रोफेसर्स के घर पर कैश ऑन डिलीवरी से गिफ्ट भेजने के साथ-साथ बलात्कार करने की धमकी भी तक दे डाली.

राजस्थान यूनिवर्सिटी में खौफ की हालत यह है कि डरी हुई यूनिवर्सिटी ने सभी महिला प्रोफेसरों के फोटो, मोबाइल नंबर, पता और दूसरी जानकारियां राजस्थान यूनिवर्सिटी की वेबसाइट से डिलीट तक कर दी है. जयपुर में लड़कियों के सबसे बड़े कॉलेज महारानी कॉलेज की प्रिंसिपल का कहना है कि पीड़ित प्रोफेसरों की संख्या डेढ़ सौ के आसपास है और यह बेहद गंभीर और पेचिदा मामला है.

वही, जयपुर स्थित महारानी कॉलेज की प्रिंसिपल अल्पना कटेजा ने कहा कि, सभी टीचर्स बहुत ही घबराई हुई हैं और यह बेहद गंभीर मामला है. स्टॉकिंग का भी यह मामला है, क्योंकि जो भी अपराधी है, वह फोन कर यह तक बता रहा है कि, अब महिला प्रोफ़ेसर या लेक्चरर ने क्या पहना है और वो कहां पर मौजूद है यानी कि उनकी करंट लोकेशन तक फ़ोन पर बता रहा है .

दरअसल, राजस्थान यूनिवर्सिटी के 35 विभागों में 230 महिला प्रोफेसर हैं इनमें से करीब डेढ़ सौ ने इस तरह की शिकायत यूनिवर्सिटी प्रशासन से की है. पुलिस ने महेश नगर और गांधी नगर थाने में इन शिकायतों को दर्ज किया है. जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव का कहना है कि अपराधी इंटरनेट के जरिए एक खास सॉफ्टवेयर से फोन कर रहे हैं जिसकी वजह से नंबर ट्रेस नहीं हो पा रहे हैं. लेकिन आईटी एक्सपर्ट इसकी जांच में जुटे हुए हैं.

यूनिवर्सिटी आने वाली छात्राओं ने भी शिकायत दर्ज कराई है कि, उन्हें भी गेट पर अक्सर इस तरह से सेक्सुअल हरासमेंट का सामना करना पड़ता है. मगर कोई कार्रवाई नहीं होती है. पुलिस ने कुछ नंबर दिए हैं और एहतियात के तौर पर कहा है कि फोन को अटेंड ना करें, यह नंबर मोबाइल पर आते हैं सीधे पुलिस को फोन करें. इन हेल्पलाइन नंबर की सहायता से आप मनचले अपराधियों की शिकायत पुलिस में घर बैठे भी दर्ज करवा सकती है + 1226 793 577, + 92310 773 052, + 1052 428 332,+ 1313 497 930

बता दे कि डरी हुई महिला टीचरों ने आज राजस्थान के डीजीपी से मुलाकात की है. साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी मिलने का समय मांगा है. राजस्थान में यह पहली घटना है कि इस तरह से एक साथ करीब डेढ़ सौ महिला प्रोफेसर इस तरह से प्रताड़ित हुईं हैं.

Tag In

#rajasthan_university #राजस्थान_विश्वविद्यालय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *