राफेल की पूजा धर्म के अनुसार इसमें कुछ गलत नहीं : पाक सेना प्रवक्ता

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। हाल ही में भारत ने फ्रांसीसी बंदरगाह शहर बोर्डोक्स में 36 फ्रांसीसी निर्मित राफेल लड़ाकू जेट में से पहला राफेल लड़ाकू जेट प्राप्त किया था। पहले राफेल को लेने खुद देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गए थे। वहां उन्होंने राफेल की पूजा पारम्परिक भारतीय पद्धति सी की थी। राफेल को भारतीय त्यौहार विजयादशमी पर लिया गया था। इस त्यौहार पर शस्त्रों की पूजा करने की परंपरा होने से राफेल की भी उन्होंने किसी शस्त्र की तरह पूजा की। इस बात पर जहा भारत की राजनीति में यह आलोचना का विषय बन गया था वही पाकिस्तान के सेना प्रवक्ता आसिफ गफूर ने राजनाथ सिंह के बचाव मी बयान दिया है।

आसिफ गफूर ने कहा की ‘राफेल की पूजा में कुछ गलत नहीं क्योंकि यह धर्म के अनुसार है और उसका सम्मान होना चाहिए। कृपया, याद रखें ….यह अकेली मशीन नहीं जो मायने रखती है असल में उस मशीन को संभालने वाले की क्षमता ,जुनून और संकल्प मायने रखता है। हमें हमारे पीएएफ शहीदों पर गर्व है।”ऐसे वक़्त जब पाकिस्तान भारत से खफा है, कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर वह भारत को घेरने की जी तोड़ कोशिश में लगा हुआ है। पाकिस्तान के तरफ से भारत के धर्म की वकालत करने वाला बयान आया है।

राजनाथ सिंह के राफेल पर नारियल फोड़ने, राफेल पर ॐ बनाने और पहियों के नीचे नीम्बु रखने की पूजा पद्धती की भारत में बहुत आलोचना हुई थी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे इसे ‘तमाशा’ बताया था। कांग्रेस नेता उदित राज ने इसे गलत बताते हुए कहा था की जिस दिन भारत से अन्धविश्वास ख़त्म हो जाएगा उस दिन भारत खुद अपने फाइटर जेट बनाने लगेगा। उदित राज ने पूजा को एक अन्धविश्वास करार दिया था।

Tag In

#pak #rafale #rafalefighter #rajnathsingh #आसिफगफूर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *