Nitish-Kumar new pic

मतगणना से पहले झलकी नीतीश कुमार की बीजेपी पर नाराजगी

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। एनडीए के सहयोगी दलों के दम पर बीजेपी दोबारा सत्ता में आने का सपना देख रही है। लेकिन उसी सहयोगी पार्टियों की सोच बीजेपी से मेल नहीं खा रही है। जो बीजेपी के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। बीजेपी के सबसे खास सहयोगी में से जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने धारा 370 पर बीजेपी के विपरीत बयान दिया है।

एनडीए की बैठक में शामिल होने दिल्ली पहुंचे सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि धारा 370 को हटाने और कॉमन सिविल कोड थोपने की बात नहीं होनी चाहिए। नीतीश कुमार ने कहा कि अयोध्या मसले का समाधान आपसी सहमति या कोर्ट के फैसले से होना चाहिए। मुख्य बात यह है कि नीतीश कुमार के उलट बीजेपी कश्मीर से धारा 370 हटाने के पक्ष में है।

खबरों के मुताबिक, बीजेपी के दबाव के चलते ही जेडीयू ने अपना घोषणापत्र जारी नहीं किया। बीजेपी चाहती थी कि जेडीयू अपने घोषणापत्र में कुछ मु्द्दों का जिक्र न करे। जिसके लिए नीतीश कुमार तैयार नहीं थे। बीजेपी जेडीयू पर अपने घोषणापत्र में अनुच्छेद 370, समान नागरिक संहिता और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दे को जिक्र नहीं करने का दबाव बना रही थी।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव प्रचार के मौके पर झारखंड में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि एक बार फिर मोदी को पीएम बनाइए, हम कश्मीर से धारा 370 हटा देंगे।

बीजेपी ने कई बार जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को खत्म करने की बात का जिक्र किया है। इतना ही नहीं बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में भी धारा 370 को खत्म करने की घोषणा की है। इन सभी के बावजूद बिहार के सीएम और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने अपने आप को बीजेपी के फैसले से अलग कर लिया है।

Tag In

#act-370 #BJP #j&k #Jammu and Kashmir #modi #narendra modi #nitish kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *