लोकसभा चुनाव: ये हैं वो पूर्व मुख्यमंत्री जो मोदी की सुनामी में नहीं बचा पाएं अपनी सीट

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। 17वीं लोकसभा के लिए कल गुरूवार को चुनावी नतीजे घोषित कर दिए गए है। इसी के साथ बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर प्रचंड बहुमत हासिल कर लिया है। इसी के साथ देश में एक बार फिर से मोदी सरकार बनने जा रही है। पार्टी ने इस बार आम चुनावों मे 300 का आंकड़ा पार कर लिया है। बता दें कि इस बार मोदी की सुनामी में कई बड़े दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है। मोदी की लहर में इस बार कई पूर्व सीएम को हार का सामना करना पड़ा। आइए नजर डालिए उन हारे हुए मुख्यमंत्रियों पर…

भूपेंद्र हुड्डा: हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक है। हुड्डा चार बार सांसद भी रह चुके है। बता दें कि पूर्व सीएम हुड्डा ने इस बार हरियाणा के सोनीपत से बीजेपी के उम्मीदवार रमेश कौशिक के खिलाफ उतरे थे। लेकिन हुड्डा को 164864 मतों से हार का सामना करना पड़ा।

शीला दीक्षित: दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित इस बार उत्तर पूर्व दिल्ली से कांग्रेस की ओर से चुनाव मैदान में उतरी थी। शीला दीक्षित के सामने बीजेपी ने प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का उतारा। तिवारी ने शीला दीक्षित को 3,66,102 मतों से हराया।

हरीश रावत: हरीश रावत उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री है। हरीश रावत को भाजपा के अजय भट्ट ने 3,39,096 वोट के अंतर से हराया। बता दें कि अजय भट्ट को 772195 वोट मिले और वहीं, हरीश रावत को 433099 वोट मिले।

दिग्विजय सिंह : दिग्विजय सिंह 10 साल तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके है। दिग्विजय सिंह कांग्रेस की ओर से इस बार भोपाल सीट से चुनावी मैदान में उतरे। बीजेपी ने सिंह के सामने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उतारा। प्रज्ञा सिंह ने दिग्विजय को 364822 मतों से हराया था।

सुशील कुमार शिंदे: सुशील कुमार शिंदे महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री है। भाजपा के जय सिद्धेश्वर शिवारचरी ने शिंदे को सोलापुर सीट से 1,58,608 वोटों से शिकस्त दी।

एचडी देवगौड़ा: एचडी देवगौड़ा पूर्व पीएम और पूर्व सीएम रह चुके है। इस बार के लोकसभा चुनाव में देवगौड़ा को जीएस बासवाराज ने हराया।

अशोक चौहान: महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चौहान इस बार नांदेड की सीट से उतरे। अशोक चौहान के सामने बीजेपी ने प्रतापराव पाटिल को मैदान में उतारा। पाटिल ने अशोक चौहान को 40148 वोटों से शिकस्त दी।

मुकुल संगमा: मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा को तौरा सीट से नेशनल पीपल्स पार्टी की आगाथा संगमा ने 64030 मतों से हराने में कामयाबी हासिल की।

वीरप्पा मोइली: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री वीरप्पा मोइली भी इस चुनाव में अपनी सीट नहीं बचा सके। पूर्व सीएम अपनी पारंपरिक सीट चिकबल्लपुर से चुनाव लड़े थे और उन्हें भाजपा के बीएन बच्चे गौड़ा ने 1,82,110 वोटों से हराया।

Tag In

#BJP #CM #lepannga news hindi #lok sabha elections 2019 #modi-sarkar #नरेन्द्रमोदी कांग्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *