लोकसभा चुनाव 2019/पहला चरण। 91 सीटों पर गुरूवार को होगा मतदान, पिछली बार इन सीटो में से भाजपा के पास 35% और कांग्रेस के पास 8% सीटें थीं

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज। देवेन्द्र कुमार। 2019 के लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। इस बार के लोकसभा का यह पहला चरम होगा। इस चरण में 18 राज्यों के साथ दो केंद्र शासित प्रदेशों की कुल 91 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। अगर पिछले चुनाव की बात करें तो भाजपा ने 2014 में इन 91 सीटों में से 35% यानी 32 सीटें जीती थीं। और वहीं, कांग्रेस ने 8% यानी 7 सीटें ही जीती थीं।

इन राज्यों में होगा पहले चरण में मतदान

11 अप्रैल को उत्तरप्रदेश की आठ, महाराष्ट्र की सात, छत्तीसगढ़ की एक, बिहार की चार, असम की पांच, उत्तराखंड की पांच, अरुणाचल प्रदेश की दो, जम्मू-कश्मीर की दो सीटों पर मतदान होगा। इन सभी सीटें पर भाजपा और कांग्रेस का असर रहता है। इसके अलावा आंध्रप्रदेश की पच्चीस, तेलंगाना की सत्रह, मेघालय की दो, सिक्किम की एक, मिजोरम की एक, नागालैंड की एक, लक्षद्वीप की एक, अंडमान-निकोबार की एक, ओडिशा की चार, पश्चिम बंगाल की दो, मणिपुर की एक, त्रिपुरा की एक लोकसभा सीट पर गुरूवार को मतदान होगा।

पहले चरण की 91 सीटों में से 44 टिकट उद्योगपतियों-कारोबारियों को मिली

पहले चरण की कुल 91 सीटों पर 182 प्रमुख उम्मीदवार हैं। इस सीटों पर उद्योगपति-कारोबारी सबसे ज्यादा हैं इनकी संख्या 44 है। इसकी बड़ी वजह है आंध्र की 25 सीटों पर वोटिंग। अकेले आंध्र में तेदेपा ने 11 और वाईएसआरसी ने 10 ऐसे उम्मीदवारों को टिकट दिए हैं जो बड़े उद्योगपति या कारोबारी हैं। 182 प्रमुख उम्मीदवारों में 38 टिकट नेताओं के परिवार में बंटे हैं। इनमें भाजपा ने 5 और कांग्रेस ने 4 टिकट परिवारवाद के आधार पर दिए हैं।

पहले चरण के चुनाव में राहुल ने मोदी से 9 रैलियां ज्यादा की

इस बार के लोकसभा चुनाव की घोषणा 10 मार्च को हो गई थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अगले ही दिन से चुनाव प्रचार शुरू कर दिया। उन्होंने कांग्रेस के ब्लॉक स्तर के कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच पहली रैली कर इसकी शुरूआत की। अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात करें तो मोदी ने लोकसभा चुनाव की घोषणा के 10 दिन बाद यानि की 20 मार्च को अपना चुनाव प्रचार शुरू किया। तब उन्होंने ‘मैं भी चौकीदार’ कैम्पेन की लॉन्चिंग के बाद देशभर में 25 लाख सिक्युरिटी गार्ड्स को ऑडियो-वीडियो के जरिए संबोधित किया था। 9 अप्रैल तक मोदी ने 30 रैलियां कीं। और राहुल ने 39 रैलियों को संबोधित किया।

जानिए पिछले दो चुनावों का इन 91 सीटों का गणित

पिछले दो चुनावों की बात करें तो 2009 के लोकसभा चुनाव में इन 91 सीटों में से भाजपा ने 7 और कांग्रेस ने 55 सीटें जीती थीं। 2014 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो यह तस्वीर बदल गई। इस चुनाव में कांग्रेस 7 सीटों पर सिमट गई, जबकि भाजपा को 25 सीटों का फायदा हुआ और वह 32 के आंकड़े तक पहुंच गई। पहले चरण की इन 91 सीटों पर पिछली बार कांग्रेस से ज्यादा सफल तेदेपा (16) और टीआरएस (11) रही थी।

Tag In

#chunav aayog #HINDINEWS #LATESTHINDINEWS #LATESTNEWS #loksabha-chunav #loksabhachunav2019 #NEWS CHANNEL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *